यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा संपन्न, 204 मुन्नाभाई चढ़े हत्थे

12

UP Constable Exam 2024: उत्तर प्रदेश पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा रविवार को कड़ी निगरानी के साथ समाप्त हो गई। योगी सरकार के सख्त निर्देशों के मद्देनजर परीक्षा को सकुशल संपन्न कराने के लिए पुलिस विभाग ने पूरी ताकत झोंक दी। एसटीएफ और क्राइम ब्रांच की टीमों की सक्रियता के चलते नकल माफिया, सॉल्वर गैंग और जालसाजों के सदस्यों की एक नहीं चली और वे पुलिस के हत्थे चढ़ गए। राज्य के विभिन्न जिलों से कुल 204 मुन्नाभाई गिरफ्तार किये गये, जिनमें शिक्षक और पुलिस कर्मी भी शामिल हैं।

दो हजार से ज्यादा केंद्रों पर हुई परीक्षा

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा के लिए 75 जिलों में कुल 2385 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए यूपी एसटीएफ और क्राइम ब्रांच की टीमें नकल माफियाओं के मंसूबों को नाकाम करने के लिए सादे कपड़ों में सक्रियता से काम कर रही हैं। परीक्षा के दूसरे और आखिरी दिन पहली पाली में 82 और दूसरी पाली में 36 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ें-ऊर्जा प्रदेश बनने की राह पर उत्तराखंड, निवेश के साथ बढ़ेंगे रोजगार

वहीं रविवार को 96 जालसाज और सॉल्वर गैंग के सदस्य पकड़े गए। एक सरकारी शिक्षक संत्रांत यादव को कानपुर, प्रयागराज, बलिया में पकड़ा गया। फिरोजाबाद में दो पुलिस कर्मियों समेत पांच लोग पकड़े गए। बदांयू में एक शिक्षक समेत तीन लोग पकड़े गए। इस तरह उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा के दौरान कुल 204 मुन्नाभाई पकड़े गए।

वापसी के लिए बस और रेलवे स्टेशनों पर अभ्यर्थियों की भीड़

उत्तर प्रदेश पुलिस कांस्टेबल की परीक्षा रविवार को सकुशल सम्पन्न हो गई। जिन अभ्यर्थियों की परीक्षा छूट गयी, उन्होंने सीधे बस और रेलवे स्टेशनों का रुख किया और राज्य के सभी जिलों में यही स्थिति रही। इस दौरान सभी जिलों के रोडवेज अधिकारी सक्रिय रहे और बसों को रवाना करने में लगे रहे। रेलगाड़ियाँ लोगों से खचाखच भरी हुई थीं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)