NDA में शामिल होने के बाद पहली बार CM योगी से मिले ओपी राजभर, की यह मांग

43

op-rajbhar-met-yogi-adityanath

लखनऊः एनडीए में शामिल होने के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की। एनडीए में शामिल होने के बाद राजभर की सीएम योगी से यह पहली मुलाकात थी। ओमप्रकाश राजभर ने 18 जुलाई को दिल्ली में प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी। बीते दिनों बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने ओपी राजभर से उनके आवास पर मुलाकात की और दोनों पार्टियों के आगामी कार्यक्रमों पर चर्चा की थी।

चर्चा है कि सुभासपा अध्यक्ष को जल्द ही योगी सरकार में मंत्री बनाया जा सकता है। ओमप्रकाश राजभर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के दौरान राजभर और भर जाति को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने के लिए राज्य की ओर से केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजने का भी अनुरोध किया। इस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें सकारात्मक आश्वासन दिया। मुलाकात के दौरान ओपी राजभर ने मुख्यमंत्री से अक्टूबर में आज़मगढ़ में प्रधानमंत्री की रैली कराने के संबंध में चर्चा की। साथ ही सात अक्टूबर को सुभासपा के स्थापना दिवस पर पटना में आयोजित रैली में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री को आमंत्रित भी किया।

ये भी पढ़ें..मणिपुर मामले पर भड़के अखिलेश, बोले-भाजपा की ओर देखने से पहले…

पूर्वांचल में जातीय समीकरण मजबूत करने में जुटी भाजपा

ओपी राजभर को एनडीए में दोबारा शामिल करने के पीछे बीजेपी का मकसद पूर्वांचल में जातीय और राजनीतिक समीकरण को मजबूत करना है। इसी कड़ी में सुभासपा अध्यक्ष राजभर ने मुख्यमंत्री को अक्टूबर माह में आजमगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली आयोजित करान का अनुरोध किया। विदित हो कि सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आज़मगढ़ से सांसद रह चुके हैं। भले ही उपचुनाव में बीजेपी ने आजमगढ़ लोकसभा सीट सपा से छीन ली हो, लेकिन अभी भी आजमगढ़ की सभी विधानसभा सीटों पर सपा का ही कब्जा है। अब ओपी राजभर और दारा सिंह चौहान के भाजपा के साथ आने से ताकत में इजाफा महसूस कर रही है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)