Lucknow: महिला सिपाही ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, प्रेमी से झगड़े के बाद उठाया कदम

0
5

Lucknow: राजधानी लखनऊ में उस वक्त हड़कंप मच गया है जब कैंट थाना क्षेत्र में तैनात महिला सिपाही (Female constable suicide) ने फांसी लगाकार आत्महत्या कर ली। जानकारी होते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम भेजने के बाद जांच में जुट गई। बताया जा रहा है कि प्रेमी से झगड़ा होने के बाद मंगलवार को महिला ने ये खौफनाक दम उठाया। फरवरी में अंशी के घरवाले शादी तय करने जाने वाले थे।

किराए के मकान में रह रही थी अंशी

उपनिरीक्षक शिशिर कुमार ने बताया कि मूलरूप से उन्नाव जिले की रहने वाली महिला सिपाही अंशी तिवारी (27) सुभाष मोहल्ले में किराए के कमरे में रहती थी। वर्तमान में वह उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती बोर्ड में तैनात थीं। महिला सिपाही ने अपने कमरे में फांसी लगा ली। भाई प्रशांत ने बताया कि बहन ने उसे बताया था कि मंगलवार रात फेसबुक पर उसकी दोस्त सिपाही से लड़ाई हो गई थी।

इसके बाद ही उन्होंने यह कदम उठाया है। हालांकि तलाशी के दौरान पुलिस को कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। फिलहाल भाई की तहरीर पर पुलिस ने प्रेमी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

2019 बैच की सिपाही थी अंशी तिवारी

गौरतलब है कि उन्नाव के गांधी नगर निवासी अंजनी तिवारी कपड़ा व्यवसायी हैं। उनकी बेटी अंशी तिवारी भर्ती बोर्ड में महिला कांस्टेबल के पद पर तैनात थी। 2019 बैच की अंशी पिछले चार महीने से कैंट में किराए पर रह रही थी। भाई प्रशांत ने बताया कि मंगलवार शाम पांच बजे अंशी से फोन पर बात हुई थी। इस दौरान उन्होंने दारोगा भर्ती के लिए फॉर्म भरने की बात कही थी। वह बहुत खुश थी। रात करीब 10 बजे अंशी के प्रेमी अखिल त्रिपाठी निवासी इटावा का मैसेज आया। मैसेज में उस ने लिखा था कि अंशी से झगड़ा हो गया है और वह फोन नहीं उठा रही है।

ये भी पढ़ें..Delhi: मुठभेड़ के बाद दो वांछित शार्पशूटर पुलिस के हत्थे चढ़े

कमरे के अंदर फंदे से लटकता मिला शव

प्रशांत के लगातार कॉल करने के बाद भी अंशी का फोन नहीं उठा। अनहोनी की आशंका पर प्रशांत अंशी के किराए के मकान पर पहुंचा, जहां दरवाजा भीतर से बंद था। खिड़की से झांककर देखा तो अंशी का शव फंदे से लटक रहा था। जिसके बाद दरवाजा तोड़कर महिला सिपाही का शव निकाला गया। महिला सिपाही की आत्महत्या की सूचना मिलते ही एसीपी कैंट पंकज सिंह फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। फोरेंसिक टीम बुलाकर जांच कराई गई। परिजनों की मौजूदगी में पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

भाई प्रशांत ने बताया कि 28 दिसंबर को अंशी छुट्टी पर घर आई थी, इस दौरान फरवरी में अखिल के परिवार के पास जाकर शादी की बात करने का फैसला हुआ। वह शादी से बहुत खुश थी। दोनों पिछले पांच वर्षों से एक-दूसरे को चाहते थे। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)