Featured राजस्थान क्राइम

Kota Gang Rape: कोटा में NEET की तैयारी कर रही छात्रा से गैंगरेप, सोशल मीडिया पर हुई थी दोस्ती

kota-girl-student-gang-rape
Kota Gang Rape, जयपुरः राजस्थान का कोटा कोचिंग नहीं अब कारनामों का हब बनाता जा रहा है। एक ओर जहां लगातार आत्महत्या की घटनाएं कोटा में चिंता बढ़ा रही हैं। तो वहीं गैंगरेप के इस सनसनीखेज मामले ने पुलिस महकमे में हड़कंप मचा दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक 16 वर्षीय छात्रा के साथ चार लड़कों ने गैंगरेप किया। पीड़िता मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी।

पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

फिलहाल इस मामले में राजस्थान पुलिस ने कोटा में NEET की कोचिंग कर रहे चार छात्रों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता ने आरोप लगाया कि चारों आरोपियों में से एक ने उसे अपने फ्लैट पर बुलाया। वहां उसने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस ने कहा कि सुरक्षा चिंताओं के कारण आरोपियों की पहचान अभी तक उजागर नहीं की गई है। पुलिस ने बताया कि पीड़िता की कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश के एक लड़के से दोस्ती हुई थी। बातचीत के दौरान उसे पता चला कि वह नीट ( NEET) की तैयारी कर रहा है और लैंडमार्क इलाके में किराए के मकान में रहता है। 10 फरवरी को लड़के ने पीड़िता को अपने फ्लैट पर मिलने के लिए बुलाया, जहां उसके तीन दोस्त भी मौजूद थे। जब लड़की फ्लैट पर पहुंची तो चारों ने उसके साथ कथित तौर पर बारी-बारी से दुष्कर्म किया। ये भी पढ़ें..मथुराः फिल्मी स्टाइल में घुसे बदमाशों ने दूल्हे को मारी गोली, तलाश में जुटी पुलिस

यूपी की रहने वाली है पीड़िता

माना जा रहा है कि अन्य तीन आरोपी पश्चिम बंगाल और बिहार के रहने वाले हैं। ये सभी कोटा में कोचिंग ले रहे हैं। फिलहाल पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। पुलिस ने बताया कि मामले को सुलझाने के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उमा शर्मा ने कहा, पीड़िता यूपी की रहने वाली है। वह करीब एक साल से कोटा में NEET (राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा) की तैयारी कर रही थी।

आत्महत्या करने जा रही थी छात्रा

उन्होंने कहा कि घटना 10 फरवरी को हुई और मामला 13 फरवरी को दर्ज किया गया। इसके बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने घटना के एक दिन बाद पीड़िता इस बारे में किसी को न बताने की धमकी दी थी। वहीं घटना के बाद पीड़िता डिप्रेशन में चली गई और आत्महत्या के बारे में भी सोचने लगी। लेकिन उसके दोस्तों ने काउंसलिंग की, जिसके बाद उसने केस दर्ज कराया। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)