बिल्डर ललित टेकचंदानी पर ED ने कसा शिकंजा, 22 ठिकानों पर छापेमारी, 30 करोड़ रुपये जब्त

Enforcement-Directorate

ED Raid Mumbai: प्रवर्तन निदेशालय ने बिल्डर ललित टेकचंदानी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले के तहत मुंबई और नवी मुंबई में 22 ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया। बिल्डर टेकचंदानी पर फ्लैट खरीदारों से धोखाधड़ी करने के साथ ही पैसों का गबन करने का भी आरोप है।

सर्च ऑपरेशन के दौरान ईडी ने 30 करोड़ रुपये भी जब्त किए हैं, जिसमें बैंक एफडी और कैश भी शामिल है। बता दें कि ईडी ने यह कार्रवाई तलोजा और चेंबूर पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के आधार पर की है। हाल ही में पुलिस ने आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की थी। एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि हाउसिंग प्रोजेक्ट के नाम पर बिल्डर ललित टेकचंदानी की कंपनी मेसर्स सुप्रीम कंस्ट्रक्शन एंड डेवलपर प्राइवेट लिमिटेड ने फ्लैट खरीदारों से भारी मात्रा में पैसे वसूले।

ईडी की जांच में पता चला है कि सुप्रीम कंस्ट्रक्शन एंड डेवलपर प्राइवेट लिमिटेड ने हाउसिंग प्रोजेक्ट के नाम पर करीब 1700 फ्लैट खरीदारों से 400 करोड़ रुपये वसूले। खरीदारों से धन जुटाने के बाद, टेकचंदानी ने उस धन का उपयोग अपने व्यक्तिगत विकास के वित्तपोषण और अपनी अचल संपत्ति के निर्माण के लिए किया, जिसे उन्होंने अपने परिवार और रिश्तेदारों के नाम पर पंजीकृत किया।

यह भी पढ़ें-अमेरिका के साथ मजबूत होंगे भारत के सैन्य संबंध, जनरल मनोज पांडे करेंगे दौरा

आपको बता दें कि ईडी ने तलाशी के दौरान 27.5 लाख रुपये बरामद किए। इसके अलावा सर्च ऑपरेशन के दौरान कई डिजिटल दस्तावेज भी बरामद हुए हैं। तलाशी के दौरान 29.73 करोड़ रुपये का भी पता चला और विभिन्न बैंकों में रखे गए एफडी खाते फ्रीज कर दिए गए हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)