अहमदाबाद में सीएम भूपेन्द्र ने सोने की झाड़ू से निभाई पहिंद विधि, रथयात्रा की शुरुआत

अहमदाबाद: जगन्नाथपुरी की रथयात्रा (Rathyatra) की तर्ज पर अहमदाबाद में भी भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा (Rathyatra) निकालने की परंपरा है। मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने शुक्रवार सुबह सोने की झाड़ू से पहिंद विधि कर जमालपुर स्थित जगन्नाथ मंदिर से 145वीं रथयात्रा की शुरूआत की। इसके अलावा राज्य के कई हिस्सों में भी जगन्नाथ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें..भगवान जगन्नाथ की यात्रा के दर्शन से मिलता है पुण्य

मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल शुक्रवार सुबह जमालपुर स्थित जगन्नाथ मंदिर पहुंचे। यहां सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर मुख्यमंत्री ने जमालपुर स्थित जगन्नाथ मंदिर पर यात्रामार्ग पर सोने की झाड़ू से पहिंद विधि कर रथयात्रा (Rathyatra) का शुभारंभ किया। भगवान जगन्नाथ की यह यात्रा दोपहर को ननिहाल मामा और मौसी के घर के प्रतीक स्वरूप सरसपुर पहुंचेगी। रथयात्रा में करीब 18 सजे हुए गजराज अगवाई कर रहे थे। इसके बाद 101 प्रकार विविध झांकियां, करसत के अखाड़े, 18 भजन मंडलिया, तीन बैन्डबाजा की मंडली के साथ भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और भाई बलरामजी के रथ से नगर भ्रमण के लिए प्रस्थान किया है।

रथयात्रा (Rathyatra) में करीब दो हजार से ज्यादा साधु-संत नासिक, अयोध्या, उज्जैन, हरिद्वार, जगन्नाथपुरी, एयूआर सौराष्ट्र से शामिल होने आए हैं। रथयात्रा के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालु भी चल रहे हैं। सरसपुर में भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और भाई बलभद्र के साथ में हजारों श्रद्धालु प्रसाद स्वरूप भोजन ग्रहण करेंगे। रथयात्रा दोपहर तक विश्राम करने के बाद परंपरागत मार्गों पर होते हुए शाम करीब 8 बजकर 30 मिनट तक निज मंदिर वापस पहुंच जाएगी। जगन्नाथ रथयात्रा अहमदाबाद के पुराने शहर शाहपुर और दरियापुर जैसे संवेदनशील क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। राज्य के अन्य कई जगहों पर भी रथयात्राओं का आयोजन की खबरें आ रही हैं।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…