उमेश सिंह कुशवाहा का जदयू प्रदेश अध्यक्ष बनना तय, नहीं होगा मतदान

umesh-singh-kushwaha
umesh-singh-kushwaha

पटनाः जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा की कुर्सी बनी रहेगी। जदयू प्रदेश अध्यक्ष के चुनाव को लेकर शनिवार को आखिरी तारीख थी लेकिन जदयू में इस पद के लिए नामांकन का समय सीमा समाप्त होने तक एकमात्र उमेश कुशवाहा ने ही नामांकन किया है। ऐसे में उनका निर्विरोध चुना जाना तय है। पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष के लिए मतदान नहीं होगा। पूर्व से तय कार्यक्रम के मुताबिक 27 नवम्बर को जदयू प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए वोटिंग होना है। इस मामले को लेकर जदयू के राज्य निर्वाचन अधिकारी जनार्दन प्रसाद सिंह ने बातचीत में बताया कि किसी भी नेता ने इस पद के लिए नामांकन नहीं किया है।

तय कार्यक्रम के तहत 27 नवम्बर को जदयू प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए मतदान होना था लेकिन अब मतदान नहीं होगा। रविवार को नए अध्यक्ष के नाम विधिवत घोषणा कर दी जाएगी। उमेश सिंह कुशवाहा ने 2015 में महनार विधानसभा के चुनाव मे महागठबंधन के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था। इस दौरान उन्होंने राजग उम्मीदवार डॉ. अच्युतानंद को 27 हजार मतों से हराया था।

ये भी पढ़ें..Shraddha Murder: आफताब को 13 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा…

इसके अलावा 2020 में उमेश कुशवाहा जब जदयू के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे, तो उस समय वे राजद की वीणा देवी ने उमेश कुशवाहा को भारी मतों से हराया था। जदयू के निर्विरोध प्रदेश अध्यक्ष चुने जाने के बाद उमेश सिंह कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और पार्टी के वरीय नेताओं का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने दोबारा उनपर भरोसा किया है। वे नीतीश कुमार के द्वारा तय किये गये सिद्धांतों को लेकर पार्टी को आगे बढ़ाने के कार्यों को पूरी ईमानदारी से निभाएंगे।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…