राजस्थान में कड़ाके की सर्दी, माउंट आबू के मैदानी इलाकों में जमी बर्फ की चदर

जयपुरः प्रदेश में कड़ाके की सर्दी और कोहरे से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। जयपुर समेत प्रदेश के कई जिलों में तापमान में गिरावट आ रही है। प्रदेश के एकमात्र पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू का पारा लगातार दूसरे दिन भी माइनस में दर्ज किया गया है। माउंट आबू में बर्फ जमने से फसलों को भी नुकसान होने का अंदेशा है। उत्तर भारत में पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के चलते प्रदेश में कड़ाके की सर्दी का दौर शुरू हो गया है। शीतलहर चलने से लोगों की कंपकंपी छूट रही है। दोपहर में तेज धूप खिलने के बाद भी लोगों को सर्दी से राहत नहीं मिल पा रही है। नए साल में लगातार दो दिनों से पारा माइनस 3 डिग्री रहने से सुबह 9 बजे तक मैदानी इलाकों में बर्फ की परत जमी रही।

ये भी पढ़ें..IPL से चाइनीज कंपनी ‘VIVO’ की छुट्टी, अब ‘टाटा’ के नाम से जाना जाएगा आईपीएल

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार विंड पैटर्न बदलने से तापमान में गिरावट आ रही है। करीब 5 दिनों से कोल्ड वेव चल रही है और विंड पैटर्न के तहत अभी हवा हिमालय की ओर से आ रही है और इसी कारण राज्य में सर्दी का असर बढ़ गया है। माउंट आबू में मंगलवार को न्यूनतम तापमान माइनस 3 डिग्री और अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पहले सोमवार को भी हिल स्टेशन का तापमान माइनस 3 डिग्री दर्ज किया गया था। माउंट आबू में शीतलहर चलने से आम जनजीवन काफी प्रभावित हुआ है। यहां की दिन की शुरुआत बर्फ और कोहरे के साथ हो रही है। सवेरे कड़ाके सर्दी पड़ने के कारण लोग सुबह करीब 9 बजे तक घरों में ही रहते हैं। इसके बाद सूरज निकलने पर घरों की छतों पर धूप सेंकते नजर आते हैं। शहर में पारा माइनस 3 डिग्री होने से मैदानों, बगीचों में फूलों-पत्तियों, घरों के बाहर खुले में खड़ी गाड़ियों की छतों पर पर बर्फ जमी रही।

येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने आगामी दिनों के लिए घने कोहरे और शीतलहर का येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसमें प्रदेश के बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, नागौर, झुंझुनू, भरतपुर, अलवर, सीकर, जयपुर समेत कई जगह पर शीत लहर की संभावना जताई गई है। वर्तमान में धूप निकलने से दिन में लोगों को थोड़ी राहत मिल पा रही है। मंगलवार सवेरे श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, बीकानेर, कोटा समेत कई जगह पर कोहरा छाया रहा। बीकानेर में 5 डिग्री, करौली में 3 डिग्री, सीकर में 3.5 डिग्री, फतेहपुर में 5.3 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में न्यूनतम तापमान में ज्यादा गिरावट आ सकती है। अभी अलवर, झुंझुनू, सीकर, बीकानेर, चूरू, नागौर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर समेत कई जगह पर घने कोहरे के साथ शीतलहर की आशंका बरकरार है, वहीं जयपुर, जोधपुर, अजमेर, उदयपुर समेत कई जगह पर मौसम शुष्क रहने की संभावना है।

गलन भरी सर्दी और शीतलहर के कहर से परेशान लोगों के लिए 13 जनवरी से तापमान बढ़ने से राहत बढ़ेगी। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार 13 जनवरी से विंड पैटर्न में बदलाव होगा और उत्तरी हवाओं का असर राजस्थान समेत मैदानी इलाकों में कम होने लगेगा। इससे दिन के साथ-साथ रात के तापमान में भी बढ़ोतरी होने लगेगी। जयपुर में मंगलवार सुबह से धूप खिली। सोमवार के मुकाबले मंगलवार को जयपुर में शीतलहर का असर थोड़ा कम रहा, जिससे लोगों को राहत मिली।

जिलों का तापमान

अलवर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़ क्षेत्र में सर्दी का असर थोड़ा तेज रहा, यहां न्यूनतम तापमान 4 से 6 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। राज्य में मौसम साफ होने और धूप निकलने से दिन के तापमान भी धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। बीती रात सीकर में 3.5, चूरू में 6.5, भीलवाड़ा में 4.4, बीकानेर में 5, श्रीगंगानगर में 6.1, अलवर में 6, जयपुर में 7.4, उदयपुर में 6.2, चित्तौड़गढ़ में 4.6, बाड़मेर में 9.4, जोधपुर में 7.9 एवं जैसलमेर में 7.8 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान मापा गया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)