संदेशखाली में ED का बड़ा एक्शन, शाहजहां शेख से जुड़े कई ठिकानों पर की छापेमारी

21

कोलकाताः पश्चिम बंगाल में राशन वितरण घोटाले के मामले में ED ने गुरुवार को संदेशखाली में कई जगहों पर छापेमारी की। सूत्रों ने कहा कि राशन वितरण मामले के अलावा, मछली उत्पादों के निर्यात में शामिल संदेशखाली स्थित एक इकाई भी केंद्रीय एजेंसी के रडार पर है। इस यूनिट के मालिक शेख शाहजहां हैं। इस मामले में ईडी के अधिकारी सीएपीएफ अधिकारियों की भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच संदेशखाली के धमखली के मछली बाजार पहुंचे।

5 जनवरी को ईडी और सीएपीएफ पर हुआ था हमला

ईडी अधिकारियों की एक छोटी टीम मछली बाजार के स्वामित्व में भागीदार नसीरुद्दीन मोल्ला के आवास पर है। जिस बाजार में छापेमारी और तलाशी अभियान चल रहा है वह झींगा के थोक व्यापार के केंद्र के रूप में लोकप्रिय है। नसीरुद्दीन मोल्ला, शेख शाहजहां के मछली निर्यात व्यवसाय में भी एक सक्रिय सहयोगी है, राशन वितरण मामले के साथ-साथ 5 जनवरी को संदेशखली में ईडी और सीएपीएफ कर्मियों पर हमले का आरोपी है।

ये भी पढ़ें..अश्लीलता पर बड़ा एक्शन ! 18 OTT प्लेटफॉर्म्स और 57 सोशल मीडिया हैंडल्स ब्लॉक

मिली जानकारी के मुताबिक राशन वितरण मामले में गलत तरीके से कमाए गए लाभ का एक बड़ा हिस्सा शाहजहां के स्वामित्व वाले मछली-व्यापार व्यवसायों में निवेश किया गया था। कई मछली कारोबारियों के घर पर भी ईडी ने छापेमारी की है। ये व्यापारी शाहजहां शेख के करीबी हैं।

सीबीआई को ट्रांसफर किया गया मामला

गौरतलब है कि संदेशखाली में हिंसा से पहले जनवरी में ईडी की टीम राशन घोटाला मामले में शाहजहां शेख के ठिकानों पर छापेमारी करने पहुंची थी। इस दौरान शाहजहां के समर्थकों ने ईडी की टीम पर हमला कर दिया। फिलहाल इस मामले की जांच अब सीबीआई कर रही है। कोर्ट के फैसले के बाद शाहजहां शेख की हिरासत के साथ-साथ ईडी पर हमले का मामला भी सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया है। शाहजहां को जल्द जिला अदालत में पेश किया जाएगा, जहां से उसे हिरासत में भेज दिया जाएगा।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)