पंजाब राजनीति

खड़गे ने लुधियाना से फूंका लोकसभा चुनाव का बिगुल, मोदी सरकार पर जमकर साधा निशाना

Mallikarjun Kharge
नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) रविवार को पंजाब पहुंचे। जहां उन्होंने लोकसभा चुनाव 2024 का बिगुल फूंका। लुधियाना जिले के गांव बोदली में पहले कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने केंद्र सरकार पर किसानों और जवानों को बर्बाद करने का आरोप लगाया। उन्होंने कार्यकर्ताओं से लोगों के बीच जाने और उनसे बात करने की अपील की। मल्लिकार्जुन खड़गे ने किसानों को बधाई दी है कि उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लड़ाई लड़ी, जिसे बाद में केंद्र सरकार को वापस लेना पड़ा। पंजाब के लुधियाना के समराला में एक सभा को संबोधित करते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि किसानों को निश्चित तरीके से खत्म करने की साजिश रची जा रही है। लेकिन आपके आंदोलन ने खेती बचा ली।

केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशाना 

मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में आजादी के बाद पहली बार हर किसान पर 25 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से टैक्स लगाया गया। उन्होंने आगे कहा कि 'पीएम फसल बीमा योजना' को एक निजी बीमा कंपनी की मुनाफे वाली योजना बना दिया गया। उन्होंने फोरम को बताया कि 2016 से 2022 के बीच बीमा कंपनियों ने 40,000 करोड़ रुपये कमाए। ये भी पढ़ें..मौजूदा विपक्ष PM Modi से नफरत करते-करते भारत से नफरत करने लगा: Acharya Pramod Krishnam मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ब्रिटिश काल में आरएसएस-बीजेपी के लोगों ने उनकी मदद की थी। गांधीजी के भारत छोड़ो आंदोलन में भी अंग्रेजों की मदद की। वह हर दिन उठकर कांग्रेस और राहुल गांधी को गाली देते हैं।' पदयात्रा निकालने वाले को भला-बुरा कहा जाता है। क्यों ? जबकि उन्होंने सरकार में कोई पद नहीं लिया है !

30 लाख सरकारी पद खाली 

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि युवा बेरोजगार हैं। 30 लाख सरकारी पद खाली पड़े हैं। इनमें से 15 लाख पद दलितों, आदिवासियों और अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों को मिलते, इसलिए वे ये भर्ती नहीं कर रहे हैं। इसलिए ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकना चाहिए और डॉ. मनमोहन सिंह जैसी सरकार वापस आनी चाहिए। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)