Online fraud: ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा, पुलिस ने 6 बदमाशों को किया गिरफ्तार 

जयपुर: करणी विहार थाना इलाके में ऑनलाइन ठगी(online fraud) करने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए पुलिस ने छह बदमाशों को गिरफ्तार किया। ये लोग वेबसाइट में बग (वायरस) डालकर लोगों को झांसे में लेते और फिर मदद करने के बहाने लोगों को लूट लेते हैं। इस गिरोह को दिल्ली में बैठकर एक डिंपल नाम की महिला चला रही थी।

मामले में छह लोग गिरफ्तार 

हालांकि, पुलिस को इस पूरे मामले की जानकारी मिलते ही जांट पड़ताल में जुट गई। वहीं थानाधिकारी ने बताया कि, चित्रकूट सेक्टर तीन के गोविन्द नगर में बने फ्लैट में कम्प्यूटर लगाकर साइबर ठगी की जा रही है। इस पर पुलिस की टीम ने छापेमारी करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया। और उनके पास से चार लैपटॉप भी बरामद किये।

पूछताछ में सामने आया है कि, इस कॉल सेंटर से आरोपित और डिंपल किसी भी ऑनलाइन वेबसाइट पर एक छोटा सा बग डाल देते थे। उस वेबसाइट पर कस्टमर के लॉगिन करने पर लैपटॉप-कम्प्यूटर की स्क्रीन फ्रीज हो जाती है। इसी दौरान बग में डाले गए फोन नम्बर कस्टमर के लैपटॉप या कम्प्यूटर की स्क्रीन दिखने लगते हैं। जो यूएस के होते हैं इन नंबर पर कॉल करने पर कस्टमर का उनसे सम्पर्क हो जाता है। इस पर वह कस्टमर को कम्प्यूटर टेक्नीशियन बन कर बात करते हैं।

ये भी पढ़ें…आखिर क्यों मनाया जाता है किस डे, इसके पीछे की क्या है वजह…

16 हजार रुपये लेते थे सर्विस चार्ज 

कम्प्यूटर ठीक करने के लिए सर्विस चार्ज 199 डॉलर (करीब 16 हजार रुपए) बताते हैं। कस्टमर को वह अमेजन, गूगल पे और पेपाल गिफ्ट कार्ड से पेमेंट करने के लिए बोलते हैं। जिस पर उनके कहे अनुसार कस्टमर उक्त गिफ्ट कार्ड के नम्बर पढ़कर बता देता है। इन नम्बर को उनकी ऑनर डिंपल को बताते हैं। वह कस्टमर को आधा घंटा कम्प्यूटर ठीक करने का बोल कर होल्ड रखते हैं। फिर कहते हैं कि, आपका लैपटॉप या कंप्यूटर ठीक हो गया है। असल में वह खराब होता ही नहीं है। आरोपियों से पूछताछ के दौरान कई और वारदातों का भी खुलासा हुआ।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)