एनएसजी के स्थापना दिवस पर कमांडो ने दिखाए हैरतअंगेज करतब

गुरुग्राम: एनएसजी (नेशनल सिक्योरिटी गार्ड-राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड) का 37वां स्थापना दिवस शनिवार को एनएसजी मानेसर परिसर में धूमधाम से मनाया गया। इस समारोह में एनएसजी कमांडो ने खुले आसमान में और हरियाली जमीन पर जो हैरतअंगेज कारनामे दिखाए, उन्होंने हर किसी को हैरान कर दिया। इस समारोह में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की।

चाहे हेलिकॉप्टर पर रस्सियों के सहारे लटककर सेल्यूट करना हो या फिर पैराशूट से उड़ान भरकर सेल्यूट करना हो, पूरे शौर्य और साहस के साथ कमांडो ने यह काम किया। आसमान में सेना के हेलिकॉप्टर्स की गरजना, जमीन पर बंदूकों से निकली गोलियों की ठांय-ठांय से कमांडो ने दिखाया कि वे किस तरह से किसी भी ऑपरेशन में काम करते हैं।

डीपीएस की एक घटना पर कमांडो ने दिखाया शौर्य

दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) का एक वाकया दिखाया गया, जब बदमाशों ने स्कूल में घुसकर बच्चों, शिक्षकों को बंधक बना लिया था। अपनी सूझ-बूझ से एनएनजी कमांडो ने सभी को सुरक्षित बचाने में कामयाबी हासिल की। सबसे पहले हेलिकॉप्टर की मदद से कमांडो यहां बनाई गई डीपीएस स्कूल की इमारत की छत पर रस्सी के सहारे उतरे। उसके बाद उन्होंने पूरी एकाग्रता के साथ आगे बढ़कर स्कूल की उस कक्षा तक पहुंचने में कामयाबी हासिल की, जहां पर बंधक बनाया गया था। हकीकत के ही ऑपरेशन की तरह कमांडो यहां पूरी फूर्ति और सुरक्षा के साथ आगे बढ़ रहे थे। उनके साथ एक डॉग भी था, जो कमांडो की तरह से नजर रखे हुए थे। कक्षा के दरवाजे के भीतर पहुंचकर कमांडो ने सभी बदमाशों को ढेर कर दिया।

रोबोट से उड़ाया बॉक्स, बम वाला बैग उठा मशीन में डाला

इसी तरह से एक ब्रिपकेस में रखे बम को रोबोट के माध्यम से क्षतिग्रस्त किया गया। वहां एक बैग में रखे बम को रोबोट के माध्यम से उठाकर बम निष्क्रिय करने की मशीन में डालकर उसे निष्क्रिय कर दिया। कमांडो और डॉगी का यहां तालमेल भी बेहतर नजर आया। कमांडो के इशारों पर डॉगी कभी रिंग से निकलते दिखाई दिए तो कभी कहीं से कूदते दिखाई दिए। कमांडो के साथ-साथ सुरक्षा के काम में डॉगी की भूमिका भी महत्वपूर्ण है। यह दिखाया गया।

यह भी पढ़ेंः-टी20 विश्व कप का खिताब जीतने के लिए बेताब है ऑस्ट्रेलिया : फिंच

गूगल डॉगी रहा आकर्षण का केंद्र, मंत्री को दिया गुलदस्ता

मुख्य अतिथि केंद्रीय गृह मंत्री नित्यानंद राय जब कार्यक्रम में पहुंचे तो मंच पर गूगल नाम डॉगी ने उन्हें गुलदस्ता भेंटकर करके स्वागत किया। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत भी ऐसा किया गया और दिखाया गया कि ये डॉगी आम डॉगी से कहीं अलग है। सुरक्षा से लेकर अन्य कई जरूरी कार्यों में भी इनकी महत्ती भूमिका रहती है। गृह राज्य मंत्री को गूगल डॉगी ने ना केवल गुलदस्ता दिया, बल्कि कमांडो के इशारे पर उनसे हाथ भी मिलाया। मंत्री ने एक गुलाब का फूल उनके गले में लगाया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)