तेज तर्रार कांग्रेस नेत्री नूरी खान ने दिया इस्तीफा ! पार्टी पर लगाएं गंभीर आरोप

उज्जैनः कांग्रेस की तेज तर्रार कांग्रेस नेत्री नूरी खान ने पार्टी पर अल्पसंख्यकों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने रविवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि कांग्रेस पार्टी में रहकर अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओं एवं अपने लोगों को राजनैतिक एवं सामाजिक न्याय दिलाने में असहज महसूस कर रही हूं। भेदभाव की शिकार हो रही हूं। अतः अपने सारे पदों से आज इस्तीफ़ा दे रही हूं।

ये भी पढ़ें..सीएम योगी बोले-आतंकवादियों के मुकदमों को वापस ले सकती है सपा, नहीं कर सकती विकास

पार्टी में अपनी उपेक्षा के चलते नूरी खान नाराज

उल्लेखनीय है कि नूरी खान क्षेत्र की कद्दावर नेत्री मानी जाती हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ कई बार उनकी तारीफ कर चुके हैं और उन्हें महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष के योग्य बता चुके हैं। बताया जा रहा है कि पार्टी में अपनी उपेक्षा के चलते नूरी खान नाराज चल रही थीं। इसी के चलते उन्होंने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को इस्तीफे के संबंध में पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि कांग्रेस पार्टी की विचारधारा अल्पसंख्यक वर्ग के प्रति भेदभाव पूर्ण है।

उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा कि मैंने स्वयं यह महसूस किया कि मुझे जिस तरह से इतनी मेहनत और लगन से कार्य करने के बाद भी सिर्फ वर्ग विशेष होने की वजह से पार्टी में जिम्मेदार पदों पर नहीं बैठाया जाता। जब मेरे साथ यह स्थिति है तो प्रदेश के अन्य जिलों में अल्पसंख्यक प्रतिनिधित्व की पार्टी में क्या स्थिति होगी, यह समझा जा सकता है।

मुसलमान हुूं इसलिए नहीं मिला बड़ा पद

उन्होंने कहा कि मैंने न भूख देखी ना धूप, मेहनत और ईमानदारी से कांग्रेस पार्टी को मज़बूत बनाने के लिए संघर्ष करती रही, जनता की लड़ाई सड़कों पर लड़ती रही, लेकिन मुझे हमेशा पार्टी की तरफ़ से हर क़दम पर अहसास दिलाया जाता रहा “तू मुसलमान है”, भेदभाव से क्षुब्ध होकर पार्टी को कहा अलविदा।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)