यूपी के इस जिले में होती है बरसाने जैसी होली, वर्षों पुरानी है परंपरा

0
5

महोबाः जिले के नकारा गांव में आज भी बरसाना की तर्ज पर लट्ठमार होली (Lathmar holi) खेलने की परंपरा जारी है। इस परंपरा को जीवित रखते हुए महिलाएं चेहरे पर घूंघट और हाथों में लाठियां लेकर पुरुषों से प्रतिस्पर्धा करती नजर आतीं हैं। बूढ़े और बच्चे सभी लट्ठमार होली के रंग में रंगे हुए हैं। वृन्दावन के बरसाना गांव की तर्ज पर बुन्देलखण्ड क्षेत्र के महोबा जिले के पनवाड़ी विकास खण्ड के नकरा गांव में भी लट्ठमार होली की वर्षों पुरानी परंपरा है।

महिलाएं और पुरुष बढ़-चढ़कर लेते हैं भाग

शनिवार को गांव की महिलाओं ने चेहरे पर घूंघट और हाथों में लाठी लेकर पुरुषों से लाठी लेकर मुकाबला किया और नारी शक्ति का अहसास कराया। जहां पुरुष भी हाथों में लाठियां लेकर महिलाओं के हमले से बचने की कोशिश करते दिखे। होली की इस अनूठी परंपरा को देखने के लिए पड़ोसी जिला हमीरपुर समेत जिले के तमाम गांवों के लोग शामिल हुए और पूरा गांव रंग और गुलाल से सराबोर नजर आया।

ग्रामीण वृन्दावन राजपूत, शिवचरण दीक्षित, खेमराज और जगत सिंह राजपूत ने बताया कि यहां हर साल हर्ष और उल्लास के साथ अनोखी होली खेली जाती है। इसमें बेहतर प्रदर्शन करने वाली महिलाओं को पुरस्कार देकर प्रोत्साहित भी किया जाता है।

एक सप्ताह पहले से शुरू हो जाती है तैयारी

नकारा गांव की महिला सुषमा रानी हल्की भाई और सिया रानी ने बताया कि यहां की महिलाएं प्राचीन काल से ही लट्ठमार होली की परंपरा को बचाए हुए हैं। होली से एक सप्ताह पहले से ही वह तैयारी शुरू कर देती हैं। सभी पुरुष और महिलाएं एक-दूसरे का समर्थन करते हैं और पवित्र त्योहार को प्यार और खुशी के साथ मनाते हैं। परिस्थितियाँ भी यहाँ की अनूठी परंपरा को डिगा नहीं पाईं और यह आज भी जारी है।

यह भी पढ़ेंः-Holi 2024: होली के रंग में रंगे फारसिबगंज विधायक,राजस्थान के कलाकारों ने मचाई घूम

यहां लट्ठमार होली बंद होने से लोगों में अफसोस

इसी तरह पहले जिले के खंगर्रा गांव में लठमार होली खेली जाती थी। लेकिन आज के समय में लोगों के बीच दुश्मनी बढ़ती जा रही है। जिसके कारण लोगों के बीच आपसी कलह और मतभेद के कारण यहां लट्ठमार होली की परंपरा बंद हो गई है। इसका मलाल यहां के लोगों में दिख रहा है। पहले यहां आसपास के ग्रामीण इलाकों से हजारों लोग लट्ठमार होली का आनंद लेने आते थे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)