विमान के अंदर यात्री ने पायलट को जड़ा था जोरदार थप्पड़, अब मांगी माफी, वीडियो वायरल

0
2

IndiGo flight : फ्लाइट में देरी से नाराज एक यात्री ने इंडिगो पायलट के साथ मारपीट की, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मामला बढ़ने पर आरोपी शख्स ने पायलट से माफी मांगी, लेकिन सुरक्षा का हवाला देते हुए पायलट ने उसकी माफी मानने से इनकार कर दिया। यह घटना रविवार को दिल्ली से गोवा जा रही इंडिगो फ्लाइट के अंदर हुई। पायलट विमान में देरी की जानकारी दे रहा था, इसी दौरान गुस्साए यात्री ने उस पर हमला कर दिया। बाद में पायलट ने शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज की।

गोवा जा रहा था विमान

वायरल वीडियो में पीले रंग की हुडी पहने एक शख्स को यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘अगर तुम्हें चलना है तो चलो, नहीं तो गेट खोल दो।’ यह वीडियो कोई तीसरा शख्स शूट कर रहा था। आरोपी की पहचान साहिल कटारिया के रूप में हुई है। एक अन्य वायरल वीडियो में कटारिया पायलट से माफी मांगते नजर आ रहा है। विमान से उतरते वक्त कटारिया ने कहा ‘सॉरी सर’, जवाब में वीडियो शूट कर रहा शख्स ‘नो सॉरी’ कहता सुना जा सकता है।

गोवा जाने वाली इंडिगो की उड़ान (6E-2175) कथित तौर पर घने कोहरे और हवाई अड्डे पर यातायात के कारण विलंबित थी। पुलिस के मुताबिक, फ्लाइट के सह-पायलट अनूप कुमार और सुरक्षाकर्मी आईजीआई पुलिस स्टेशन आए और साहिल कटारिया नाम के एक यात्री के बारे में शिकायत दर्ज कराई, जिसने रविवार को सह-पायलट के साथ मारपीट और दुर्व्यवहार किया था।

यह भी पढ़ें-Himachal News: हिमाचल में 17 जनवरी से शुरू होगा “सरकार गांव के द्वार” कार्यक्रम

मामला दर्ज

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “उन्होंने फ्लाइट में दुर्व्यवहार किया और सह-पायलट को मारा और फ्लाइट के अंदर हंगामा किया।” शिकायत के आधार पर भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 341, 290 और 22 विमान नियम के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

इस बीच, इंडिगो ने कहा कि नियामक दिशानिर्देशों के अनुसार उचित कार्रवाई करने और यात्री को ‘नो-फ्लाई सूची’ में शामिल करने के लिए एक आंतरिक समिति का गठन किया गया है। एयरलाइन के एक प्रवक्ता ने कहा, “उड़ान 6E2175 के प्रथम अधिकारी द्वारा उड़ान में देरी की घोषणा के दौरान, एक यात्री ने पहले अधिकारी पर हमला कर दिया।” प्रोटोकॉल के अनुसार, उन्हें आगे की कार्रवाई के लिए स्थानीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों को सौंप दिया गया। उचित कार्रवाई और यात्री को ‘नो-फ्लाई लिस्ट’ में शामिल करने के लिए घटना को एक स्वतंत्र आंतरिक समिति के पास भेजा जा रहा है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)