अल्टीमेट खो-खो लीग की एक टीम का ओडिशा सरकार ने लिया स्वामित्व

भुवनेश्वर: ओडिशा सरकार ने जल्द ही लॉन्च होने वाले अल्टीमेट खो-खो (यूकेके) (Kho Kho) लीग को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देने के लिए एक टीम का स्वामित्व ले लिया है। यह ओडिशा सरकार के पास दूसरे खेल का स्वामित्व होगा, इससे पहले ओडिशा सरकार ने 2013 में हॉकी इंडिया लीग की टीम कलिंगा लांसर्स का भी स्वामित्व लिया था। यह घोषणा ओडिशा द्वारा खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2022 के दौरान खो-खो में लड़कों और लड़कियों दोनों श्रेणियों में रजत पदक जीतने के कुछ दिनों बाद हुई है। ओडिशा स्पोर्ट्स डेवलपमेंट एंड प्रमोशन कंपनी के स्वामित्व वाली टीम लीग की पांचवीं फ्रेंचाइजी होगी।

ये भी पढ़ें..Baba Chamliyal Mela: सांबा में दो साल बाद लगा ऐतिहासिक मेला,…

खेल और युवा सेवा मंत्री तुषारकांति बेहरा ने एक बयान में कहा, “खो खो ओडिशा के कई हिस्सों में बहुत लोकप्रिय है। हाल ही में खेलो इंडिया यूथ गेम्स में, हमारे लड़कों और लड़कियों ने अच्छा खेला और रजत पदक जीते। चूंकि यह एक पारंपरिक खेल है, इसलिए हमारे पास इसे राज्य में और विकसित करने की बहुत बड़ी गुंजाइश है। इसलिए, हमने खो-खो लीग (Kho Kho) में भाग लेने का फैसला किया है। यह ओडिशा में खेल के लिए हमारे मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के दृष्टिकोण का हिस्सा है।” पिछले दशक में, नवीन पटनायक के नेतृत्व वाली सरकार ने न केवल देश में कुछ प्रमुख खेल आयोजनों की मेजबानी की है, बल्कि एक विश्व स्तरीय बहु-खेल बुनियादी ढांचा भी विकसित किया है।

ओएसडीपीसी अग्रणी इस्पात निर्माता आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील इंडिया लिमिटेड (एएम/एनएस इंडिया) के साथ सहयोग कर रही है और अल्टीमेट खो-खो में मिलकर काम करेगी। अल्टीमेट खो खो (Kho Kho) के सीईओ तेनजिंग नियोगी ने कहा, “खेल ओडिशा भारत की खेल क्रांति में प्रमुख कारकों में से एक रहा है। एक खेल को विकसित करने के लिए उनका केंद्रित दृष्टिकोण प्रभावशाली रहा है। उन्होंने एक ऐसा वातावरण बनाया है जिसने जमीनी स्तर पर विकास और भविष्य के चैंपियन के लिए पहुंच बनाने के लिए कई कॉर्पोरेट निवेशों को प्रोत्साहित किया है। और अब अल्टीमेट खो खो के साथ उनका जुड़ाव, खेल के विकास के लिए एक बड़ा संकेत है।” अल्टीमेट खो खो (Kho Kho) ने इससे पहले चार फ्रेंचाइजी की घोषणा की थी। कॉरपोरेट दिग्गज अदानी ग्रुप और जीएमआर ग्रुप ने गुजरात और तेलंगाना फ्रेंचाइजी हासिल की, जबकि कैपरी ग्लोबल और केएलओ स्पोर्ट्स क्रमशः राजस्थान और चेन्नई टीमों के मालिक हैं।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…