Monday, June 17, 2024
spot_img
Homeटॉप न्यूज़अफ्रीकी संघ G20 में स्थायी सदस्य के रूप में शामिल, चीन ने...

अफ्रीकी संघ G20 में स्थायी सदस्य के रूप में शामिल, चीन ने भी किया समर्थन, PM मोदी ने की थी पहल

African-Union-President

G20 Summit: दिल्ली में आयोजित G20 शिखर सम्मेलन का आज से आगाज हो गया है। अब आज से दुनिया की महाशक्तियां अगले दो दिनों तक दिल्ली में महामंथन करेंगी। वहीं जी20 शिखर सम्मेलन के आयोजन स्थल भारत मंडपम पर पहुंचे तमाम विदेशी नेताओं का पीएम मोदी गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। G20 सम्मेलन में पीएम मोदी की पहल पर अफ्रीकी यूनियन (African Union) को जी20 का स्थायी सदस्य बनाया गया है। जिसका सभी सदस्य देशों ने सर्वसम्मति से अफ्रीकी संघ का जी20 में स्वागत किया है।

अफ्रीकी संघ में 55 देश शामिल

आपको बता दें कि अफ़्रीकी संघ में 55 देश शामिल हैं। एक तरह से वैश्विक मंच पर यह भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत मानी जा रही है। पीएम मोदी ने अफ्रीकी संघ के G20 समूह में आधिकारिक तौर पर शामिल होने की भी घोषणा की। उधर, अफ्रीकी संघ के जी20 का स्थायी सदस्य बनते ही पीएम नरेंद्र मोदी ने अफ्रीकी संघ के अध्यक्ष अजाली असौमानी, जो कोमोरोस के राष्ट्रपति भी हैं, का गले लगाकर स्वागत किया।

ये भी पढ़ें..G-20 Summit: पूरे विश्व में छाया जी-20 शिखर सम्मेलन, भारत पर टिकी दुनिया भर की निगाहें

इतना ही नहीं, मोदी ने पोस्ट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अफ्रीकी संघ और कोमोरोस के राष्ट्रपति अज़ाली असौमानी का गर्मजोशी से स्वागत किया। उन्होंने पोस्ट में आगे कहा, अफ्रीकी संघ को स्थायी सदस्य के रूप में पाकर रोमांचित हूं। यह वास्तव में जी20 परिवार के लिए एक मील का पत्थर है। अफ्रीकी संघ के अध्यक्ष और कोमोरोस के राष्ट्रपति अज़ाली असौमानी ने विदेश मंत्री एस के जयशंकर के निमंत्रण पर विश्व नेताओं के बीच अपना स्थान ग्रहण किया।

 चीन ने भी किया अफ्रीकी संघ का जी20 में स्वागत

वहीं, चीन ने अफ्रीकी संघ को जी20 में शामिल करने का समर्थन किया है। चीन ने कहा कि वह पहला देश है जो अफ्रीकी समूह को संगठन में शामिल करने का समर्थन करता है। इससे पहले भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि भारत जी-20 में अफ्रीकी संघ को पूर्ण सदस्य के तौर पर शामिल करने का समर्थन करता है।

गौरतलब है कि भारत पहली बार G20 सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है, इसलिए यह भारत के लिए दुनिया को अपनी संस्कृति, शक्ति और क्षमता दिखाने का एक बड़ा अवसर है। विभिन्न देशों से आने वाले मेहमानों पर देश की संस्कृति की छाप छोड़ने के लिए कई इंतजाम किए गए हैं। जिसके लिए दिल्ली को दुल्हन की तरह सजाया गया है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

सम्बंधित खबरें