हरियाणा

राजधानी कूच पर अड़े किसान, टिकरी बॉर्डर पर किए गए अभेद्य इंतजाम

Farmer Protest
Farmer Protest: किसानों के 13 फरवरी को दिल्ली कूच के आह्वान को ध्यान में रखते हुए दिल्ली और हरियाणा पुलिस पूरी तरह से अलर्ट मोड में है। दोनों राज्यों को जोड़ने वाले बहादुरगढ़ से लगे टीकरी बॉर्डर पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रहे हैं। एहतियात के तौर पर लोहे और सीमेंट से बने भारी बैरिकेड, कंटीले तार और कंटेनर लगाए गए हैं।

इन मांगों पर अड़े किसान

बता दें कि पांच स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। इसके अलावा निगरानी के लिए आधुनिक कैमरे और साउंड सिस्टम भी लगाए गए हैं। दिल्ली में किसानों की एंट्री रोकने के लिए पुलिस हर संभव कदम उठा रही है। बहरहाल, एमएसपी की गारंटी और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने जैसी मांगों को लेकर किसानों के 13 फरवरी से दिल्ली कूच के आह्वान का झज्जर जिले में कोई असर नहीं दिख रहा है। आंदोलनकारियों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए हरियाणा और दिल्ली पुलिस सक्रिय हो गई है। टिकरी बॉर्डर के हरियाणा और दिल्ली की तरफ भारी कंटेनर और बैरिकेड्स लगाए गए हैं। किसानों के दिल्ली आने की खबर से कार्यकर्ताओं में मिली-जुली प्रतिक्रिया है। टिकरी बॉर्डर और बहादुरगढ़ के आधुनिक औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों का कहना है कि किसानों की मांग जायज है, लेकिन जाम लगने से उनका काम प्रभावित होगा। यह भी पढ़ें-इंडी गठबंधन को बड़ा झटका, दिल्ली की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी AAP, केजरीवाला का ऐलान

बड़े सीमेंट कंक्रीट बैरिकेड लगाए गए

किसानों के संभावित आगमन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर बड़े साउंड सिस्टम और आधुनिक सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं। सड़क के दोनों ओर अलग-अलग आकार के बड़े सीमेंट कंक्रीट बैरिकेड लगाए गए हैं। सड़क पर बैरिकेड लगाने के लिए क्रेन भी मौजूद हैं। दिल्ली पुलिस के सैकड़ों जवानों को रिजर्व में रखा गया है, ताकि किसी भी आपात स्थिति में उन्हें तुरंत सीमा पर तैनात किया जा सके। कुल मिलाकर हालात पुराने किसान आंदोलन के दिनों की याद दिला रहे हैं। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)