‘हवन में हड्डी डालना ठीक नहीं’…सदन में कांग्रेस पर बरसे अमित शाह

amit-shah

नई दिल्लीः संसद के बजट सत्र के आखिरी दिन ऐतिहासिक राम मंदिर के निर्माण और राम लला की प्राण प्रतिष्ठा पर चर्चा करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि 22 जनवरी का दिन हजारों वर्षों के लिए ऐतिहासिक बन गया है, जो इतिहास और ऐतिहासिक पलों को नहीं पहचानते, वो अपने अस्तित्व और वजूद को खो देते हैं।

अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना 

अमित शाह ने कहा, राम और रामचरितमानस के बिना देश की कल्पना नहीं की जा सकती। जो लोग देश को जानना, जीना और पहचानना चाहते हैं वे राम और रामचरितमानस के बिना नहीं रह सकते। इस दौरान अमित शाह ने राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, सुप्रीम कोर्ट के आज के फैसले ने पूरी दुनिया के धर्मनिरपेक्ष चरित्र को उजागर किया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आज अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो गया है।

ये भी पढ़ें..PM Modi ने कहा- सरकार की योजनाओं के सबसे बड़े लाभार्थी हैं दलित, ओबीसी और आदिवासी

हवन में हड्डियां नहीं डालनी चाहिए-अमित शाह

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि हमारे गुजरात में एक कहावत है कि हवन में हड्डियां नहीं डालनी चाहिए। अमित शाह ने कहा, जो लोग राम के बिना भारत की कल्पना करते हैं, वे भारत को नहीं जानते। वह हमारी गुलामी के युग का प्रतिनिधित्व करते हैं, राम करोड़ों लोगों के लिए आदर्श जीवन कैसे जिया जाए इसके प्रतीक हैं, इसलिए उन्हें मर्यादा पुरूषोत्तम कहा गया है। राम का राज्य किसी विशेष धर्म या समुदाय के लिए नहीं है, राम का राज्य इस बात का प्रतीक है कि एक आदर्श राज्य कैसा होना चाहिए, न केवल भारत के लिए बल्कि पूरे देश के लिए।

उन्होंने कहा, कई देशों ने भी रामायण को स्वीकार कर आदर्श ग्रंथ के रूप में प्रतिस्थापित किया है। विदेशों में नेपाल, इंडोनेशिया, कंबोडिया और तिब्बत की सभी भाषाओं में रामायण का अनुवाद किया गया है और उससे प्रेरणा भी ली गई है। अमित शाह ने कहा, मैं आज इस सदन के सामने अपनी भावनाएं और देश की जनता की आवाज रखना चाहता हूं, जो वर्षों तक अदालती कागजों में दबी रही। नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद इसे आवाज भी मिली और अभिव्यक्ति भी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)