बंगाल

25 किलो कम हुआ वजन, फिर भी ज्योतिप्रिय को नहीं मिली जमानत

Ration Distribution Corruption
Ration Distribution Corruption: राशन वितरण भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तारी के बाद जेल में बंद राज्य के पूर्व मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक को आखिरकार जमानत देने से इनकार कर दिया गया। उनके वकील ने सिटी सेशन कोर्ट में कहा कि वह बेहद बीमार हैं। उनका वजन 25 किलो कम हो गया है और अब सिर्फ 37 किलो रह गया है। इसके बावजूद जज ने कहा कि जमानत नहीं दी जा सकती। बीमारी का हवाला देते हुए ज्योतिप्रिय की जमानत याचिका बुधवार को कोलकाता सिटी सेशन कोर्ट में दायर की गई। उनके वकील मिलन मुखर्जी ने कोर्ट को बताया कि जेल में रहने के दौरान ज्योतिप्रिय का वजन 25 किलो कम हो गया। यह भी पढ़ें-असम के बाद बंगाल में कांग्रेस को बड़ा झटका, कौस्तव बागची ने पार्टी से दिया इस्तीफा ज्योतिप्रिय बुधवार को वर्चुअल माध्यम से कोर्ट की सुनवाई में मौजूद रहें। उनके सिर पर सफेद पट्टी बंधी हुई थी। ज्योतिप्रिय के वकील ने कहा कि उनके मुवक्किल बीमार हैं। बुधवार को जेल में भी उनके माथे से खून बह रहा था। उन्हें मेडिकल आधार पर जमानत दी जानी चाहिए। लेकिन ईडी ने इसका विरोध किया, जिसके बाद कोर्ट ने जमानत देने से इनकार कर दिया। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)