घने मेघों ने भास्कर की किरणों को किया कैद पर रिमझिम बारिश के अभी आसार नहीं

लखनऊः राजधानी लखनऊ समेत यूपी के अधिकांश जनपदों में अभी बारिश के लिए कुछ दिन और इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि राजधानी लखनऊ में गुरूवार सुबह तेज धूप खिली और दोपहर होते-होते पूरे आसमान को घने बादलों ने घेर लिया। लेकिन इससे गर्मी से राहत नहीं मिली। बंगाल की खाड़ी से चल रही नम हवाओं से मानसून धीरे-धीरे उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ रहा था। मौसम वैज्ञानिक भी पूर्वानुमान जता चुके थे कि 22 जून के आसपास राजधानी लखनऊ समेत उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में बारिश तेज हो जाएगी, लेकिन समुद्री गतिविधियों से मानसून कमजोर पड़ गया है। इससे अब 27 जून के बाद ही मानसून की तेज बारिश होने की संभावना है।

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ एसएन सुनील पाण्डेय ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर और आसपास के इलाकों पर बना हुआ है। प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तर पश्चिमी राजस्थान पर बना हुआ है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र झारखंड और ओडिशा के आसपास के हिस्सों पर बना हुआ है। एक ट्रफ रेखा दक्षिण गुजरात तट से केरल तट तक फैली हुई है। देश के उत्तरी हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से अच्छी बारिश हो रही है। पहाड़ों और मैदानी इलाकों में प्री-मानसून बारिश हो रही है। आज भी, उत्तरी भागों में दिन के दौरान कुछ प्री-मानसून बौछारें देखी गई हैं। हालांकि, अब उत्तरी मैदानी इलाकों में बारिश की गतिविधि कम होने के लिए तैयार है और कल प्री मानसून गतिविधि उत्तर भारत की पहाड़ियों तक ही सीमित रहेगी। कानपुर मण्डल सहित मैदानी इलाकों में कोई महत्वपूर्ण बारिश नहीं होगी और केवल एक-दो जगहों पर गतिविधि देखी जा सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक 27 जून तक उत्तरी मैदानी इलाकों और पहाड़ियों पर भी बारिश नहीं होगी। इसके बाद 28 जून के आसपास बारिश तेज हो जाएगी और अगले सप्ताह उत्तर भारत में कुछ बारिश हो सकती है। ये बारिश दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत के लिए एक अग्रदूत के रूप में कार्य कर सकती है और माह के अंत में ही मानसून की बारिश हो सकती है।

ये भी पढ़ें..International Olympic Day: इंदिरा स्टेडियम से पुलिस लाइन झलेड़ा तक हुई…

जानें कहां रहा कितना तापमान
मौसम विज्ञान केन्द्र द्वारा गुरुवार की मिली जानकारी के अनुसार अधिकतम तापमान सबसे ज्यादा बांदा का 41.6 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं प्रयागराज का 40.5 डिग्री सेल्सियस, झांसी का 39.1 डिग्री सेल्सियस, इटावा का 39.4 डिग्री, लखनऊ का 38.7 डिग्री, बस्ती का 38 डिग्री सेल्सियस अधितम तापमान दर्ज किया गया। मेरठ का अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री, मुरादाबाद का 36.2 डिग्री, अलीगढ़ का 38.2 डिग्री सेल्सियस तापमान था। वहीं प्रदेश में न्यूनतम तापमान सबसे कम 21.7 डिग्री सेल्सियस फतेहगढ़ का दर्ज किया गया। वहीं गोरखपुर का 28.2 डिग्री, लखनऊ का 29.5 डिग्री, प्रयागराज का 26.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। वहीं मेरठ का 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…