टाटा समूह गुजरात में अत्याधुनिक चिप निर्माण संयंत्र करेगा स्थापित

0
60

Tata Group: टाटा समूह ने बुधवार को गुजरात में अत्याधुनिक सेमीकंडक्टर फैब्रिकेशन प्लांट बनाने की योजना की घोषणा की। इससे भारत को वैश्विक चिप हब बनने में मदद मिलेगी। टाटा संस के चेयरमैन एन.चंद्रशेखरन ने गांधीनगर में 10वें वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में बोलते हुए कहा कि टाटा समूह राज्य के धोलेरा में एक बड़े सेमीकंडक्टर फैब्रिकेशन प्लांट को अंतिम रूप देने और घोषणा करने की कगार पर है।

टाटा ग्रुप इन योजनाओं पर कर रहा काम

उन्होंने कहा, “हम सेमीकंडक्टर फैब के लिए बातचीत पूरी करने वाले हैं और इसे 2024 में चालू कर देंगे।” कंपनी अगले कुछ महीनों में गुजरात में 20 गीगावॉट बैटरी स्टोरेज फैक्ट्री का निर्माण भी शुरू कर सकती है। चंद्रशेखरन ने कहा, “यह महत्वाकांक्षी पहल नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में अपनी उपस्थिति बढ़ाने और टिकाऊ बिजली समाधानों पर भारत के बढ़ते फोकस में योगदान देने के लिए टाटा के एक रणनीतिक कदम का प्रतीक है।” टाटा समूह तमिलनाडु के होसुर में भारत के सबसे बड़े iPhone असेंबली प्लांट में से एक बनाने की भी योजना बना रहा है।

यह भी पढ़ें-Layoff News: लाइव गेम स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म ट्विच करेगा बड़ी छंटनी, जानें वजह

50 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस सुविधा में लगभग 20 असेंबली लाइनें होने और दो साल के भीतर 50 हजार कर्मचारियों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। यह साइट 12 से 18 महीनों के भीतर चालू होने की उम्मीद है। पिछले साल सितंबर में अमेरिकी कंपनी माइक्रोन टेक्नोलॉजी ने गुजरात के साणंद में 22,500 करोड़ रुपये के प्लांट का निर्माण शुरू किया था, जो भारत की सेमीकंडक्टर यात्रा के लिए एक मानक स्थापित करेगा।

इंजीनियरिंग प्रमुख लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) ने भी एक फैबलेस सेमीकंडक्टर चिप डिजाइन सहायक कंपनी स्थापित करने के लिए 830 करोड़ रुपये तक का निवेश करने की घोषणा की है, जो सेमीकंडक्टर हब बनने की देश की योजना को गति देगा।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)