ग्वालियर में भीषण गर्मी का प्रकोप, 43 डिग्री पहुंचा पारा

0
41
heat-wave

Gwalior: एक दिन की राहत के बाद तापमान फिर 43 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले तीन-चार दिन बारिश की संभावना कम है। ऐसे में तापमान में और बढ़ोतरी हो सकती है। यानी फिलहाल भीषण गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। पिछले रविवार को अधिकतम तापमान 43.3 डिग्री सेल्सियस रहा था। सोमवार को शहर के आसमान में बेहद घने बादल छाए रहे।

4.6 डिग्री बढ़ा पारा

वहीं इसके चलते अधिकतम तापमान गिरकर 38.2 डिग्री पर पहुंच गया था। मंगलवार को भी सुबह बेहद घने बादल छाए रहे, लेकिन दोपहर होते-होते बादल छंट गए। इसके बाद तेज धूप के चलते अधिकतम तापमान पिछले दिन के मुकाबले 4.6 डिग्री सेल्सियस बढ़कर 42.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया, जो औसत से 1.3 डिग्री सेल्सियस अधिक है। न्यूनतम तापमान भी 2.2 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी के साथ 31.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह भी औसत से 1.9 डिग्री सेल्सियस अधिक है।

यह भी पढ़ें-बिहार के बागमती में डूबने से चार बच्चों की मौत, तीन के मिले शव

आज सुबह हवा में नमी 40 फीसदी दर्ज की गई जो औसत से 09 फीसदी ज्यादा है जबकि शाम को हवा में नमी 22 फीसदी दर्ज की गई जो औसत से 14 फीसदी कम है. मौसम विभाग के मुताबिक इस समय उत्तर प्रदेश के उत्तर-पश्चिमी और पूर्वी हिस्से में दो अलग-अलग चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. जिसका ग्वालियर-चंबल संभाग में कोई असर नहीं है।

कुछ दिन गर्मी का प्रकोप रहेगा जारी

फिलहाल अगले तीन से चार दिनों तक यहां के मौसम को प्रभावित करने वाला कोई अन्य मौसमी सिस्टम विकसित होने की संभावना नहीं है। ऐसे में गर्मी का प्रकोप जारी रहेगा। मौसम विभाग का अनुमान है कि 15 जून के बाद प्री-मानसून गतिविधियां शुरू हो सकती हैं जबकि 20 से 22 जून के आसपास मानसून आने की संभावना है. इसके बाद ही राहत भरी बारिश की उम्मीद की जा सकती है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)