Featured बंगाल

शिक्षक भर्ती के नाम पर हर कॉलेज से की जाती थी वसूली, दिलीप घोष का सरकार पर आरोप

dilip ghosh
कोलकाता: भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि शिक्षक भर्ती के नाम पर हर कॉलेज से वसूली की गई। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वसूली की रकम सरकार में शामिल शीर्ष लोगों की जेब में जाती थी। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और बंगाल बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष ने बुधवार को नियुक्तियों में भ्रष्टाचार को लेकर राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। न्यू टाउन के ईको पार्क में मॉर्निंग वॉक करने आए दिलीप घोष ने कहा कि प्रदेश के हर कॉलेज में शिक्षक नियुक्ति के नाम पर पैसा वसूला जाता था, जो सरकार में शामिल आला लोगों की जेब में जाता था। दरअसल एक दिन पहले ईडी ने विभास अधिकारी के घर पर छापेमारी की थी। उन्होंने दावा किया था कि सारा पैसा प्राथमिक शिक्षा परिषद के पूर्व अध्यक्ष माणिक भट्टाचार्य के घर पहुंचाया गया था। इसके अलावा उन्होंने यह भी दावा किया था कि वह बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय के करीबी हैं, इसलिए उन्हें फंसाया जा रहा है। इस संबंध में दिलीप घोष ने बताया कि सभी कॉलेजों से एजेंटों के माध्यम से रुपये वसूले गए। यह भी पढ़ें-एशिया की सबसे लंबी साइकिल रेस शुरू, कश्मीर से कन्याकुमारी तक 3,655 किमी की... आगे कहा कि यह कई सालों से चला आ रहा है। आज सीबीआई और अदालतें हैं तो एक के बाद एक राज खुल रहे हैं, नहीं तो लोगों को पता ही नहीं चलता। अब देखते हैं कि भ्रष्टाचार का जाल कहां तक ​​फैला है। कैलाश विजयवर्गीय के साथ विभास अधिकारी के करीबी संबंधों पर टिप्पणी करते हुए घोष ने कहा कि मीडिया को जाकर देखना चाहिए कि विभास अधिकारी का आश्रम कहां है और वहां किस तरह का काम होता है। यह भी जांच का विषय है। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)