Punjab Election 2022: अकाली दल का बड़ा दांव, सिद्धू के खिलाफ मजीठिया को मैदान में उतारा

चंडीगढ़ः शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने पंजाब चुनाव में बड़ा दांव खेला है। आकाली दल ने बुधवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता विक्रम सिंह मजीठिया को पंजाब कांग्रेस के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ मैदान में उतारा है। पूर्व मंत्री विक्रम सिंह मजीठिया अपनी मजीठा सीट के अलावा अमृतसर पूर्व से भी सिद्धू के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे।अमृतसर में घोषणा करते हुए पार्टी प्रमुख सुखबीर बादल ने यह भी कहा कि तीन बार के विधायक रंजीत सिंह छज्जलवाड़ी के बेटे सतिंदर सिंह छज्जलवाड़ी जंडियाला से पार्टी के उम्मीदवार होंगे।

बादल ने बड़ी संख्या में कांग्रेस सरपंचों और ब्लॉक समिति सदस्यों के साथ छज्जलवाड़ी परिवार को शिअद में शामिल किया। अमृतसर (पूर्व) से मजीठिया की उम्मीदवारी के बारे में जानकारी देते हुए सुखबीर बादल ने कहा कि सिद्धू का अहंकार चरम पर है। उन्होंने कहा, वह (सिद्धू) अहंकारी हो गए हैं। उनमें मैं आ गया है और उन्हें पता चलेगा कि पंजाब की जनता उन्हें पसंद नहीं करती है। सिद्धू को जनता उनके अहंकार का जवाब देगी।

ये भी पढ़ें..बिहार में संदिग्धावस्था में पांच लोगों की मौत, जहरीली शराब के सेवन की आशंका

सिद्धू-मजीठिया एक-दूसरे पर हमलावर

बता दें कि विक्रम सिंह मजीठिया और नवजोत सिंह सिद्धू एक-दूसरे पर राजनीतिक हमले करते रहे हैं। सिद्धू ने मजीठिया पर नशे तस्करों से संबंध रखने का आरोप लगाया था और इसको लेकर लगातार हमले करते रहे हैं।
शिअद प्रमुख ने कहा, उन्हें बहादुर शिअद कार्यकतार्ओं से लड़ने के लिए तैयार हो जाना चाहिए। हम यह सुनिश्चित करके उसका अहंकार तोड़ देंगे कि वह अपनी जमानत राशि गंवा देंगे।

बादल ने कांग्रेस पर साधा निशाना

आकाली दल प्रमुख ने कहा, हम जानते हैं कि उन्होंने (सिद्धू) पिछले पांच वर्षों में अपने निर्वाचन क्षेत्र में कुछ नहीं किया है। उन्होंने स्थानीय निकाय मंत्री के रूप में भी अपने निर्वाचन क्षेत्र में कुछ नहीं किया। अमृतसर पूर्व में पेयजल और यहां तक कि सीवरेज के मुद्दे भी हैं, जिसका सिद्धू ने निपटारा नहीं किया है। सुखबीर बादल ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने मजीठिया को निशाना बनाया है और उनके खिलाफ झूठा मामला भी दर्ज किया है, क्योंकि मजीठिया ने हमेशा लोगों के मुद्दों को उठाया है। उन्होंने कहा, मजीठिया लोगों के लिए लड़ने के लिए जाने जाते हैं। यही कांग्रेस सरकार को पसंद नहीं है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)