देश Featured

Jharkhand: ‘एक साल से नहीं बनी सड़क’, सीपी सिंह ने विधानसभा में उठाया मुद्दा

Jharkhand: 'Road not built for one year', CP Singh raised the issue in the assembly
रांची (Jharkhand): झारखंड विधानसभा बजट सत्र के पांचवें दिन गुरुवार को बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने सदन में पेयजल और अन्य योजनाओं के लिए खोदी गयी सड़कों और लंबे समय तक नहीं भरे जाने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि रांची में जुडको और नगर निगम ने कई कंपनियों से पाइपलाइन बिछाने के लिए खुदाई का काम कराया। जगह-जगह खोदाई के बाद एक साल से सड़क नहीं बनी है। नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी ने कहा कि सिर्फ रांची ही नहीं बल्कि चास और आदित्यपुर में भी यही स्थिति है। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से इसकी जांच के लिए विशेष कमेटी बनाने की मांग की। इस पर संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने विधानसभा की विशेष कमेटी बनाने की बात कही। इस कमेटी में विधायक सीपी सिंह और सत्ता पक्ष और विपक्ष के एक-एक विधायक होंगे। यह भी पढ़ेंः-Jharkhand: झारखंड में कई IPS अफसरों को मिली नई तैनाती, देखें पूरी सूची

लंबोदर महतो ने सदन के बाहर दिया धरना

कुरमी/कुड़मी को एसटी वर्ग में शामिल करने समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर आजसू विधायक लंबोदर महतो ने सदन के बाहर धरना दिया। महतो ने कहा कि बेरमो को जिला बनाने की मांग वर्षों से की जा रही है, लेकिन सरकार इस पर कोई निर्णय नहीं ले रही है। उन्होंने कहा कि 23 नवंबर 2004 को यह निर्णय लिया गया कि कुर्मी/कुड़मी और कोटवार जाति को अनुसूचित जाति में शामिल किया जायेगा। इस फैसले को हुए 20 साल हो गए हैं, लेकिन अब तक इसे लागू नहीं किया जा सका है। उन्होंने कहा कि 8 जनवरी 2013 को कैबिनेट में निर्णय लिया गया था कि बेरमो को नया प्रखंड बनाया जायेगा. इस पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। एक ही जाति, संस्कृति और धर्म से संबंधित होने के बावजूद, लोहार और लोहरा के पास अलग-अलग जाति प्रमाण पत्र हैं। सरकार सभी कमार, करमाली, लोहार, लोहरा, बड़ाइक और चिकबड़ाइक को अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी करे। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)