उत्तर प्रदेश

महापौर की नजरों में शहर में जाम की समस्या नहीं !

Mayor Sushma Kharkwal
Mayor Sushma Kharkwal: यह बड़ी अजीब बात है। जब लखनऊ शहर जाम से त्राहि-त्राहि कर रहा है, लेकिन महापौरी सुषमा खर्कवाल का दावा है कि शहर में कहीं जाम नहीं लग रहा है। सड़कों का जाल बन चुका है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। लखनऊ शहर का ऐसा कोई इलाका नहीं है, जहां हर दिन जाम नहीं लग रहा हो। रक्षामंत्री एवं लखनऊ शहर के सांसद राजनाथ सिंह के स्वागत में महापौर सुषमा खर्कवाल ने कई अजीबोगरीब बयान दिए। रक्षामंत्री नियमित रूप से सफाई व्यवस्था सुदृढ किए जाने के उद्देश्य से सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत (एकीकृत योजना) के अंर्तगत डोर-टू-डोर कूडा कलेक्शन, एकत्र कूडे का शिवरी प्रोसेसिंग प्लांट तक सेकेंड्री परिवहन, रोड स्वीपिंग, ड्रेन क्लीनिंग एवं एमआरएफ स्टेशन, ट्रांसफर स्टेशन के संचालन व रखरखाव को प्रारंभ किए जाने वाले कार्यों के शुभारंभ मौके पर पहुंचे थे। जनेश्वर मिश्र पार्क के बाहर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था। महापौर सुषमा खर्कवाल ने कहा कि शहर में अब कहीं जाम नहीं लगता है। लोग एक कोने से दूसरे कोने तक 15 मिनट में पहुंच रहे हैं। रिंग रोड बन जाने से शहर में प्रवेश करने वाले वाहन बाहर से ही दूसरे जिलों को चले जाते हैं। उन्होंने कहा कि शहर में प्लाईओवर का जाल बन चुका है। यह भी पढ़ें-Film Chamkila: इम्तियाज अली की चर्चित फिल्म ‘चमकीला’ की रिलीज डेट आई सामने शहर में अब लोगों को बड़ी सुविधाएं हैं मगर उन्होंने किसी स्थान का जिक्र नहीं किया, जहां पर जाम नहीं लग रहा है। उन्होंने शहर की सफाई को भी गौरवान्वित करने का वादा भी किया। रिंग रोड के अलावा शहर के मध्य जाम वाले स्थानों में ओवरब्रिज और फ्लाईओवर केवल उदाहरण स्वरूप हैं। जाम वाले स्थानों में दुबग्गा, चारबाग, लाटूश रोड, कैसरबाग, बलि्ांर्गटन चौराहा, लालबत्ती चौराहा, तेलीबाग और पीजीआई के आस-पास तो लोगों को हर दिन जाम का सामना करना होता है। ऐसे में महापौर का बयान तमाम सवालों में खरा नहीं उतर रहा है। उन्होंने रिंग रोड का जिक्र किया, जबकि इसका अभी उद्घाटन भी नहीं किया गया है। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)