हरियाणा

Farmers Protest: पलवल में पुलिस अलर्ट मोड पर, भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक, धारा 144 लागू

farmers protest Palval
Farmers Protes। Palwal: जिला प्रशासन पलवल और पुलिस अलर्ट मोड पर है। जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। दिल्ली और चंडीगढ़ जाने वाले भारी वाणिज्यिक वाहनों के लिए सड़कें बंद हैं। पुलिस ने किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए केएमपी-केजीपी एक्सप्रेसवे इंटरचेंज पर रिहर्सल भी की। इस दौरान एसपी समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। एसपी डॉ। अंशू सिंगला ने मंगलवार को विशेष बातचीत में कहा कि जिले में कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। कोई भी व्यक्ति किसी के बहकावे में आकर कानून व्यवस्था की स्थिति खराब न करें तथा पलवल में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस का सहयोग करें। जिला पुलिस किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति से निपटने में पूरी तरह सक्षम है। दिल्ली मार्च को देखते हुए डीसी ने पलवल में भी कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 के तहत आदेश पारित किए हैं।

कई बॉर्डर सील

एसपी डॉ. अंशू सिंगला ने बताया कि जिले से सटे उत्तर प्रदेश के करमन और चांदहट बॉर्डर पर नाकों को सख्त कर दिया गया है, ताकि यूपी के किसान पलवल जिले के रास्ते दिल्ली न जा सकें। पुलिस की टीमें तैनात हैं, जो उधर से आने वाले वाहनों की तलाशी ले रही हैं। किसानों के दिल्ली मार्च के कारण दिल्ली और चंडीगढ़ जाने वाले वाणिज्यिक वाहनों के लिए सड़कें बंद कर दी गई हैं। यह भी पढ़ें-PM Modi 20 फरवरी को दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे ब्रिज का करेंगे उद्घाटन, बादलों के बीच से दौड़ेंगी ट्रेनें

क्या बोले किसान नेता

संयुक्त किसान मोर्चा के नेता मास्टर महेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि किसानों की मांगें जायज हैं, संयुक्त किसान मोर्चा उनका समर्थन करता है। लेकिन 13 फरवरी को होने वाले इस आंदोलन में संयुक्त किसान मोर्चा के नेता हिस्सा नहीं ले रहे हैं, बल्कि यह प्रदर्शन अन्य संगठनों का फैसला है, सरकार को किसानों के साथ शांतिपूर्ण व्यवहार करना चाहिए। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)