प्रदेश Featured पंजाब

Farmers movement : आठवें दिन हुआ शुभकरण का पोस्टमार्टम, सरकार ने किया ये ऐलान

shubhkana
Farmers movement, चंडीगढ़ः शुभकरण की मौत के मामले में पुलिस ने बुधवार देर रात एफआईआर दर्ज कर ली है और शव का पोस्टमार्टम कराया है। युवक का अंतिम संस्कार आज किया जाएगा। इस बीच पुलिस मुख्यालय के आईजी ने शुभकरण के परिवार को पंजाब सरकार की ओर से 1 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता और परिवार की एक लड़की को पुलिस कांस्टेबल की नौकरी देने की घोषणा की है।

किसानों की मांग के आगे झुकी पंजाब सरकार

दरअसल, किसान आंदोलन के दौरान 21 फरवरी को खनौरी बॉर्डर पर पुलिस कार्रवाई के दौरान किसान शुभकरण की मौत हो गई थी। परिवार के सदस्यों को 1 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता और परिवार की लड़की को पुलिस कांस्टेबल की नौकरी देने की घोषणा की गई है। शुभकरन की मौत के बाद किसान संगठन रिपोर्ट दर्ज कराने और उसके परिवार को आर्थिक सहायता दिलाने की मांग पर अड़े थे। इस कारण शव का पोस्टमार्टम भी नहीं हो सका। आख़िरकार पंजाब सरकार को किसानों की मांगों के आगे झुकना पड़ा। इस मामले में पुलिस ने बुधवार देर रात पटियाला जिले के पाटन थाने में आईपीसी की धारा 302 और 114 के तहत मामला दर्ज किया है। मामले में अभी तक किसी को नामजद नहीं किया गया है। आरोपियों की पहचान के लिए पुलिस घटना वाले दिन के फोटो और वीडियो की जांच करेगी, जिसके आधार पर केस में नाम शामिल किए जाएंगे। इसके बाद बुधवार रात को ही शुभकरण के शव का पोस्टमार्टम भी कराया गया। इस बीच किसान संगठनों ने ऐलान किया है कि वे गुरुवार को सबसे पहले शुभकरण का शव खनौरी बॉर्डर पर ले जाएंगे। उसके बाद उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया जाएगा।

पिता ने बताई सच्चाई

शुभकरण सिंह के पिता किसान चरणजीत सिंह ने बताया कि 21 फरवरी को ग्रुप ने दिल्ली की ओर कूच करने का ऐलान किया था। शुभकरण और उनके साथी किसानों के साथ दिल्ली की ओर बढ़ने लगे, लेकिन हरियाणा सरकार ने नाकेबंदी कर दी और अंधाधुंध आंसू गैस के गोले छोड़े और गोलियां भी चलाईं। सरकार की कार्रवाई देखकर किसान रुक गए थे, लेकिन फिर भी पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई नहीं रोकी। इस दौरान शुभकरण को गोली लग गई जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। यह भी पढ़ेंः-Dehradun: उच्च शिक्षा में शुरु होंगी ये सात नवीन योजनाएं, युवाओं के सपनों को मिलेगी ऊंची उड़ान इस बीच, पंजाब के आईजी हेडक्वार्टर सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि सरकार शुभकरण के परिवार को 1 करोड़ रुपये और परिवार की लड़की को कांस्टेबल की नौकरी देगी। इस मामले में कानूनी राय के आधार पर कार्रवाई की गयी है। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)