New Parliament: रिकॉर्ड समय में बनाकर तैयार हुआ नया संसद भवन, जानें इसकी खासियत

new-parliament-building

new-parliament-building

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में देश का नया संसद भवन (New Parliament) बनकर तैयार हो गया है। 28 मई 2023 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण करेंगे। नए संसद के भवन का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने गुरुवार को पीएम मोदी से मुलाकात कर उनसे लोकार्पण करने के लिए आग्रह किया था। ओम बिरला के अनुरोध पर पीएम मोदी की तरफ से 28 मई को संसद भवन की नई इमारत का लोकार्पण करने की स्वीकृति मिल गई है।

रिकॉर्ड समय में बनाकर हुआ तैयार

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की ओर जारी किए गए एक बयान में बताया गया कि लोकसभा तथा राज्यसभा, दोनों सदनों ने 5 अगस्त, 2019 को सरकार से संसद के नए भवन (New Parliament) के निर्माण के लिए आग्रह किया था। इसके बाद 10 दिसंबर 2020 को पीएम मोदी द्वारा संसद के नए भवन का शिलान्यास किया गया था। संसद के नवनिर्मित भवन को गुणवत्ता के साथ रिकॉर्ड समय में तैयार किया गया है।

ये भी पढ़ें..पर्दे के पीछे छिपकर Shweta Tiwari ने दिये किलर पोज, फैंस बोले- पहले ही इतनी गर्मी है..

नवनिर्मित संसद भवन का निर्माण रिकॉर्ड समय में गुणवत्ता के साथ किया गया है। अब संसद का नवनिर्मित भवन जहां एक और भारत की गौरवशाली लोकतांत्रिक परंपराओं और संवैधानिक मूल्यों को और समृद्ध करने का काम करेगा, वहीं अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस यह भवन सदस्यों को अपने कार्यों को बेहतर ढंग से करने में भी मदद करेगा।

new-parliament-building

नए संसद भवन की खासियत

बता दें कि संसद का नवनिर्मित भवन जहां एक ओर भारत की गौरवशाली लोकतांत्रिक परंपराओं एवं संवैधानिक मूल्यों को और अधिक समृद्ध करने का कार्य करेगा, वहीं अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त इस भवन में सदस्यों को अपने कार्यों को और बेहतर तरीके से निष्पादित करने में सहायता मिलेगी। संसद के नए भवन में लोकसभा में 888 जबकि राज्यसभा में 384 सदस्यों के बैठक की व्यवस्था की गई है। जबकि वर्तमान में संसद भवन में लोकसभा में अधिकतम 550 जबकि राज्यसभा में 250 सांसदों के ही बैठने की व्यवस्था है।

भविष्य की आवश्यकताओं को देखते हुए नए संसद भवन का निर्माण किया गया है। संसद की नई इमारत का निर्माण कार्य दो साल पहले शुरू हुआ था। नए संसद भवन का शिलान्यास पीएम मोदी ने 10 दिसंबर 2020 को किया था। संसद के नवनिर्मित भवन को रिकॉर्ड समय में गुणवत्ता के साथ पूरा किया गया है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)