MP: महाकाल मंदिर के गर्भगृह में भस्म आरती के दौरान लगी आग, पुजारी समेत 13 झुलसे

0
4

MP Mahakal Temple: विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर के गर्भगृह में सोमवार सुबह भस्म आरती के दौरान आग लग गई। इसमें पुजारी समेत 13 लोग झुलस गए। बताया जा रहा है कि आरती के दौरान गुलाल उड़ने से आग लगी। हादसे के वक्त मंदिर में हजारों श्रद्धालु महाकाल के साथ होली मना रहे थे. घायलों में 6 की हालत गंभीर बताई जा रही है, जिन्हें इंदौर रेफर किया गया है।

सोमवार सुबह 4 बजे महाकाल मंदिर में भस्मारती में रंग और गुलाल फेंका जा रहा था. इस दौरान पुजारी कपूर से महाकाल की आरती भी कर रहे थे। इसी दौरान अचानक आग लग गयी और ऊपर लगे सन को अपनी चपेट में ले लिया. कहते हैं उसका जलता हुआ भाग नीचे गिर गया। इससे पांच पुजारी झुलस गये। आग में करीब छह नौकर भी झुलस गए। कुल 13 लोग आग की चपेट में आये। घटना में सत्यनारायण, चिंतामन, रमेश, अंश, शुभम, विकास, महेश, मनोज, संजय, आनंद, सोनू और राजकुमार नामक पुजारी और सेवक झुलस गए। अग्निशमन यंत्रों से आग पर काबू पाया गया।

घटना के वक्त मुख्यमंत्री मोहन यादव के बेटे और बेटी भी मंदिर में मौजूद थे. दोनों भस्मारती देखने गए थे। दोनों सुरक्षित हैं। दो पुजारियों को इलाज के लिए इंदौर रेफर किया गया है। आग गर्भगृह के साथ-साथ नंदीहॉल के बाहरी हिस्से में भी लगी। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

सूचना पर कलेक्टर नीरज सिंह और एसपी प्रदीप शर्मा अस्पताल पहुंचे। सभी घायलों को जिला अस्पताल ले जाया गया। यहां से चार लोगों को इंदौर रैफर किया गया है। कलेक्टर नीरज सिंह के मुताबिक सभी की हालत खतरे से बाहर है. कुछ लोगों का कहना है कि मंदिर में गुलाल फेंकते समय अचानक आग लग गई।

कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश

एक सेवक ने बताया कि आरती के दौरान एक पुजारी पर गुलाल उड़ेल दिया गया। यह गुलाल दीपक पर गिरा और आग लग गई। आशंका है कि केमिकल मिले गुलाल के कारण आग लगी। मंदिर में गर्भगृह की चांदी की दीवार को रंग और गुलाल से बचाने के लिए कुछ फ्लैक्स भी लगाए गए हैं। वे भी आग की चपेट में आ गये। बाद में आग पर काबू पा लिया गया।

कलेक्टर नीरज सिंह के मुताबिक मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। इसके लिए एक कमेटी बनायी जायेगी. हादसे के बाद महाकाल मंदिर में अफरा-तफरी की स्थिति बन गई।

यह भी पढ़ें-Ujjain: बाबा महाकाल के साथ रंग में रंगे भक्त, भस्म आरती में उड़ाया जमकर गुलाल

डॉक्टरों के देरी से पहुंचने पर पुजारी नाराज

घटना के बाद सभी झुलसे लोगों को जिला अस्पताल ले जाया गया. हालांकि डॉक्टर मौके पर नहीं थे. डॉक्टरों के देर से पहुंचने पर पुजारी नाराज हो गये. तुरंत अधिकारियों को बुलाया गया. घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर नीरज सिंह और एसपी प्रदीप शर्मा भी मौके पर पहुंचे. बाद में चार पुजारियों को इंदौर अरबिंदो अस्पताल रेफर कर दिया गया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)