Featured दिल्ली

संबित पात्रा का आरोप, आबकारी नीति में CBI जांच शुरु हुई तो 140 मोबाइल बदले गए

30533bd3dcf518fa2660f0c57e0ff945

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज दिल्ली प्रदेश बीजेपी कार्यालय पर एक संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि नई शराब नीति के अंतर्गत दो लोगों को रिमांड पर लिया गया, जो व्यापारी हैं और अरविंद केजरीवाल एवं सिसोदिया के करीबी हैं। उनके द्वारा दिए गए लेटर में कई खुलासे हुए हैं जिसमें यह भी कहा गया है कि 2631 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।इस प्रेसवार्ता को प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक आशीष सूद ने भी संबोधित किया।

संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि नई आबकारी नीति में जब सीबीआई जांच शुरू हुई तब से 140 मोबाइल फोन 34 लोगों द्वारा बदले गए हैं। जिसमें मुख्य आरोपी मनीष सिसोदिया हैं। इन 140 मोबाइल फोन पर सिसोदिया एंड कंपनी ने एक करोड़ 20 लाख रुपये खर्च किए। उन्होंने कहा कि जो राजनीति में ना आने की कसमें खाते थे, ऑटो में लटककर चलने की बात करते थे उस मनीष सिसोदिया ने डिजिटल सबूत को मिटाने के लिए 140 मोबाइल फोन बदल डाले।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने केजरीवाल सरकार पर वार करते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार नई आबकारी नीति को 5 जुलाई 2021 को ऐलान करती है, लेकिन एक महिने पहले ही मनीष सिसोदिया ने शराब माफियाओं को ठेका दे दिया था, ताकि वे अपनी कमाई के जरिया की रुपरेखा तैयार कर सके। इतना ही नहीं आबकारी विभाग रात-रात भर जागकर लाइसेंस अपलोड करने का काम करता रहा। इतना ही नहीं नई आबकारी नीति के लिए 100 करोड़ रुपये एडवांस पेमेंट दो कंपनियों से लिया गया।

ये भी पढ़ें-यूपी में ओवैसी पर हुए हमले के दोनों आरोपियों की जमानत...

आगे संबित पात्रा ने कहा कि जब सिसोदिया को इस बात का आभास हो गया कि वह पूरी तरह से सीबीआई की गिरफ्त में घिर चुके हैं, तो उन्होंने 30 सितम्बर 2022 को अपने ओएसडी निखिल से चिट्ठी लिखवाई जिसमें उन्होंने नई आबकारी नीति की सभी फाइल्स की कापी मंगावाई। ऐसे में सवाल उठता है कि जब सीबीआई, ईडी जांच एजेंसियों के पास फाइल्स चले गए थे. तो उस वक्त आखिर मनीष सिसोदिया को क्या आवश्यकता पड़ी थी जो उन्होंने फाइल्स मंगवाई। सीबीआई और ईडी से कापी मांगने की जगह आखिर क्यों सिसोदिया अपने ही विभाग से कापी मांग रहे थे।

संबित पात्रा ने केजरीवाल सरकार की गारंटी वाली घोषणा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आज अरविंद केजरीवाल गारंटी देने की बात कर रहे हैं। वे लोग जो खुद वारंटी पर हैं, जो लोग भ्रष्टाचार में लिप्त होने पर उनके ऊपर वारंट हैं वो अब भला क्या गारंटी देंगे। केजरीवाल कहा करते थे कि वे राजनीति में नहीं आएंगे, वे भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाएंगे लेकिन आज उनकी पार्टी देश की सबसे भ्रष्ट पार्टी बन चुकी है। आशीष सूद ने कहा केजरीवाल का गारंटी कार्ड एक छलावा है, हर राज्य में इसी से लोगों को ठगते हैं।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें