देश

Karnataka: बीजेपी ने विधानसभा में उठाया पाक समर्थक नारों का मुद्दा, बताया देश का अपमान

Karnataka Politics
Karnataka Politics: विपक्षी भाजपा ने बुधवार को विधानसभा में एक कांग्रेस नेता के समर्थकों द्वारा कथित तौर पर पाकिस्तान समर्थक नारेबाजी का मुद्दा उठाया और कहा कि यह राष्ट्र का 'अपमान' है। विपक्षी नेता आर। अशोक ने विधानसभा सत्र के दौरान इस मुद्दे को उठाया और पूछा, "राज्य विधानमंडल परिसर के अंदर एक भीड़ को कैसे अनुमति दी जा सकती है? सीमा पर भारतीय सैनिक 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाने वाले लोगों पर गोली चलाते हैं, यह उनके साथ अन्याय है।" उन्होंने कहा कि इस घटना से पूरे राज्य में तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गयी है। अगर यहां 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लग सकते हैं, जहां सैकड़ों पुलिसकर्मियों की सुरक्षा है, जहां दर्जनों आईएएस और आईपीएस अधिकारी काम करते हैं, तो लोगों को अब डर है कि राज्य में कहीं भी 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगेंगे।

कर्नाटक के लोगों का अपमान हैं-विपक्ष

उन्होंने पूछा, “सैयद नसीर हुसैन जैसे व्यक्ति को राज्यसभा का टिकट कैसे मिल सकता है? आपको वह कहां से मिला? सरकार अब भी इस बात पर कायम है कि उसे इस घटना की जानकारी नहीं है और वह इस घटना से अनभिज्ञ होने का दिखावा कर रही है। वह मीडिया से बाहर आने के लिए कहते हैं, उनका अहंकार देखिए?'' अशोक ने कहा कि घटनास्थल पर मौजूद नहीं होने के बावजूद भाजपा विधायक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया, जबकि पीएफआई के खिलाफ मामले खारिज कर दिए गए हैं। तब उन्हें घटनास्थल का दौरा करना चाहिए था। यह कर्नाटक के लोगों का अपमान है। उन्होंने आरोप लगाया, "सरकार मामले को दबा देती है और आरोपियों को बिरयानी खिलाती है और कारों में भेज देती है।" यह भी पढ़ें-Himachal Political Crisis: भाजपा को वोट देने वाले कांग्रेस के 6 विधायक लौटे शिमला

मामले पर क्या बोले स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव?

स्पीकर यू. टी. खादर ने कहा कि उन्हें अधिकारियों से जानकारी मिली कि भाजपा नेता विधान सौध परिसर के अंदर राष्ट्रीय ध्वज ले जा रहे हैं और नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ''मैं अपना अपमान सह लूंगा। लेकिन, भारतीय झंडे का अपमान न करें, नहीं तो कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी जायेगी। मैं आपको एक भाई के तौर पर बता रहा हूं।” इस पर अशोक ने जवाब दिया, "क्या बीजेपी नेताओं के लिए तिरंगा पकड़ना गलत है? क्या हमें पाकिस्तान का झंडा पकड़ना चाहिए? क्या राष्ट्रीय ध्वज पकड़ना उल्लंघन है?" अशोक ने दावा किया, ''कांग्रेस के एक अन्य उम्मीदवार जी. सी. चन्द्रशेखर की जीत का जश्न मनाने के लिए कोई भीड़ नहीं थी। भाजपा उम्मीदवार के समर्थकों ने 'भारत माता की जय' के नारे लगाए और चुपचाप चले गए।' स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव ने कहा कि सैयद नसीर हुसैन को दोष देने की कोई जरूरत नहीं है। “पहले आपके लोगों को पाकिस्तान का झंडा फहराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। जांच होने दीजिए। कौन जानता है कि ऐसा जानबूझकर किया गया।'' सदन में हंगामा बढ़ने पर स्पीकर खादर ने कार्यवाही स्थगित कर दी। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)