उत्तर प्रदेश

आकांक्षी नगर योजना के तहत सौ नगर निकायों का होगा कायाकल्प : ए.के. शर्मा

a.k. sharma
लखनऊ: प्रदेश के सभी नगर निकायों की आधारभूत संरचना एवं बुनियादी सुविधाओं के विकास के लिए महत्वाकांक्षी आकांक्षा कार्यक्रम बनाया जा रहा है। देश में पहली बार स्थानीय निकायों के विकास और जीवन स्तर को ऊपर उठाने के लिए राज्य में एस्पिरेशनल सिटी योजना लागू की गई है।

समस्याओं पर होगी चर्चा

योजना के प्रथम चरण में 38 जिलों के बीस हजार से एक लाख की आबादी वाले 100 अति पिछड़े शहरी निकायों का चयन इस योजना के तहत किया गया है। ये बातें नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री A.K. Sharma ने कहीं वह शनिवार को सीएम फेलो के लिए चयनित अभ्यर्थियों के लिए स्थानीय निकाय निदेशालय में आयोजित 15 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि यह योजना अत्यंत महत्वाकांक्षी कार्य है, जिससे न केवल राज्य बल्कि पूरे देश को लाभ होगा। हमारे कार्यों से अन्य राज्य भी प्रेरणा लेंगे। कहा कि सीएम फेलो मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप पिछड़े निकायों को विकास की मुख्य धारा में लाने में मदद करेंगे। प्रशिक्षण देने के बाद इन्हें चयनित पिछड़े नगर निकायों में भेजा जाएगा, जहां जिलाधिकारी, अधिशाषी अधिकारी के निर्देशन में क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों व गणमान्य नागरिकों से समस्याओं पर चर्चा कर उनसे सलाह लेकर समाधान कराने में मदद करेंगे। समग्र विकास फलदायी। उन्होंने बताया कि सीएम फेलो के पद के लिए पूरे देश से एक लाख से अधिक आवेदन प्राप्त हुए थे, जिनमें से योग्यता के आधार पर 446 आवेदकों का साक्षात्कार लिया गया। यह भी पढ़ेंः-माघी पूर्णिमाः लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी उन्होंने कहा कि योजना के तहत कार्यों के लिए 32 मापदण्ड चिन्हित किये गये हैं। सभी सीएम फेलो उम्मीदवारों की समस्याओं को हल करने, जीवन स्तर को ऊपर उठाने, स्वच्छता, सौंदर्यीकरण, प्रबंधन, पेयजल, जल निकासी, संक्रामक रोगों, स्कूलों, स्वास्थ्य सुविधाओं, आंगनवाड़ी केंद्रों, जलाशयों सहित शरीर के संपूर्ण परिदृश्य को बदलने की दिशा में काम करना। प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रधान सचिव नगर विकास अमृत अभिजात ने कहा कि सीएम फेलो राज्य के 100 सबसे पिछड़े शहरी निकायों में काम करेंगे और 32 संकेतकों के माध्यम से विकास की संभावनाएं तलाशेंगे। इसके साथ ही हम अपनी रिसर्च रिपोर्ट भी सरकार के सामने पेश करेंगे। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)