हरियाणा क्राइम

पासपोर्ट डिलीवरी के नाम पर लोगों के लगाते थे चूना, तीन चढ़े पुलिस के हत्थे

14-lakh-rupees-were-cheated-from-a-girl
Faridabad Crime: साइबर थाना सेंट्रल प्रभारी इंस्पेक्टर अमित की टीम ने साइबर ठगी के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने रविवार को बताया कि गिरफ़्तार किए गए आरोपियों में अंकित, घनश्याम तथा रितिक का नाम शामिल है। आरोपी अंकित तथा घनश्याम बिहार के शेखूपुर एरिया में स्थित बरमा गांव के रहने वाले हैं। आरोपी अंकित दिल्ली के तुगलकाबाद में रहता है वहीं आरोपी घनश्याम महाराष्ट्र में आरोपी ऋतिक के साथ कंपनी में काम करता है जो आरोपी ऋतिक बिहार के बलहा गांव का रहने वाला है।

ऐसे लगाते थे चूना

आरोपी अंकित ने फरीदाबाद के रहने वाले एक व्यक्ति के साथ 2.86 लाख रुपए की ठगी की वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी अंकित ने पीडि़त वारिश को फोन कर कहा कि उसका पासपोर्ट आने वाला है और पासपोर्ट डिलीवरी के लिए कुछ फीस भेजनी होगी और उसने वारिश को एक क्यूआर कोड भेजकर कुछ पैसे मंगवा लिए और साथ में ही एक लिंक भेज कर उसे लिंक के माध्यम से वारिश के बैंक अकाउंट की सारी डिटेल मंगवा ली। जागरूकता के अभाव में वारिश ने अपने बैंक अकाउंट की डिटेल आरोपी अंकित द्वारा भेजे गए लिंक पर डाल दी, जिससे सारी जानकारी अंकित के पास चली गई और उसने वारिश के खाते से पैसे निकाल लिए। यह भी पढ़ें-ऊर्जा प्रदेश बनने की राह पर उत्तराखंड, निवेश के साथ बढ़ेंगे रोजगार

5 दिन के रिमांड पर भेजे गए आरोपी

पीडि़त को जब अपने साथ हुई धोखाधड़ी के बारे में पता चला तो उसने साइबर थाने में इसकी शिकायत दी जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू की गई। पुलिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी घनश्याम तथा ऋतिक को 13 फरवरी को गिरफ्तार कर 5 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया जिसमें पुलिस रिमांड के दौरान आरोपियों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर आरोपी अंकित को भी 15 फरवरी को गिरफ्तार किया गया। आरोपी घनश्याम ने अपने साथी ऋतिक का बैंक खाता अंकित को दे दिया जिसमें अंकित ने ठगी से पैसे ट्रांसफर करवाए थे। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी घनश्याम को पैसे मिले थे, जो उन्होंने फिजूलखर्ची में उड़ा दिए। आरोपी अंकित ने इन पैसों से एप्पल आईफोन 15 खरीदा था जो पुलिस द्वारा बरामद कर लिया गया है। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है। मामले में जांच अभी जारी है और इसमें शामिल अन्य आरोपियों की धरपकड़ की जाएगी। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)