Dumka: प्रेमी ने की थी महिला की हत्या, रेलवे ट्रैक पर हाथ-पैर बांधकर छोड़ा, लूटे रुपये

0
63

दुमका (Dumka): 13 दिसंबर की सुबह शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के लोरी पहाड़ी गांव के पास रेलवे ट्रैक पर पुलिस ने एक महिला का शव बरामद किया था। मृतक महिला के दोनों हाथ बंधे हुए थे। पुलिस ने शव की पहचान मरियम मरांडी (35) के रूप में की। महिला पाकुड़ जिले के पाकुड़िया थाना क्षेत्र के दमगी-बरमसिया गांव की रहने वाली थी। पुलिस ने मंगलवार को महिला की मौत के मामले का खुलासा किया। मरियम की मौत कोई हादसा नहीं बल्कि उसकी हत्या की गई थी।

दुमका पुलिस ने शव बरामद कर मामले की जांच शुरू कर दी है। मृतक महिला के हाथ बंधे होने के कारण पुलिस हत्या के एंगल पर मामले की जांच कर रही थी। मामला थोड़ा पेचीदा था, क्योंकि मामला दूसरे जिले से जुड़ा था। मृतक मरियम मरांडी पाकुड़ जिले की रहने वाली थी, जबकि उसका शव पश्चिम बंगाल की सीमा पर दुमका जिले के लोरी पहाड़ी गांव के पास से बरामद किया गया था। पुलिस ने जब मृतक के परिजनों से पूछताछ की तो पता चला कि मरियम मरांडी 12 दिसंबर को पाकुड़िया प्रखंड के गनपुरा पंचायत में आयोजित ‘सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम में शामिल होने गयी थी। उसके पास 70 हजार रुपये थे, जिससे वह अपने बेटे के लिए बाइक खरीदना चाहती थी। बाद में परिवार को पता चला कि उसका शव रेलवे ट्रैक पर मिला है।

ये भी पढ़ें:Ranchi: ‘अवैध खनन से प्राप्त काली कमाई का कहां किया निवेश?’ ईडी ने पप्पू यादव से पूछा सवाल

हाथ-पैर बांधकर रेलवे ट्रैक पर छोड़ा

इस मामले में जब पुलिस ने मृतक के मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाली तो पता चला कि मरियम की शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के चित्रगड़िया गांव के शेखुद्दीन मियां उर्फ शेखा से कई बार बात हुई थी। 12 दिसंबर को शेखुद्दीन ने मरियम को अपने घर बुलाया और फिर दोनों बाइक से मसानजोर डैम गए। वापस लौटते समय जब अंधेरा हो गया तो शेखा मरियम को अपने गांव के पास एक तालाब के किनारे ले गया, जहां दोनों बातें करने लगे। इसी दौरान किसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। इसी क्रम में शेखा ने मरियम पर मुक्का से हमला कर दिया, जिससे मरियम बेहोश हो गयी। उसके बेहोश हो जाने पर शेखा ने उससे 70 हजार रुपये ले लिए और पास के रेलवे ट्रैक पर ले जाकर सुला दिया, साथ ही उसके दोनों हाथ भी बांध दिये। कुछ देर बाद ट्रेन आई तो मरियम उसकी चपेट में आ गई। यह आश्वस्त होने के बाद कि मरियम मर चुकी है, शेखा अपने घर लौट आया।

डेढ़ साल से चल रहा था प्रेम प्रसंग

इस पूरे मामले पर शिकारीपाड़ा थाना प्रभारी वकार हुसैन ने कहा कि शेखुद्दीन पेशे से जमीन कारोबारी था और वह मरियम के गांव के इलाके में काम भी करता था। इसी दौरान ये दोनों संपर्क में आये। उनका प्रेम प्रसंग डेढ़ साल से चल रहा था। 12 दिसंबर को शेखा ने उसे मिलने के लिए बुलाया था। मरियम अपने साथ 70 हजार रुपए लेकर शेखा से मिलने आई थी। बाद में दोनों के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई। इसके बाद शेखा ने योजनाबद्ध तरीके से उसकी हत्या कर दी। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)