पूर्व मुख्यमंत्री ने फिर मांगे सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत, कहा-सरकार ने क्यों नहीं…

digvijay Former Chief Minister again asked for proof of surgical strike
Former Chief Minister again asked for proof of surgical strike

भोपाल : पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सोमवार को जम्मू में हुई सर्जिकल स्ट्राइक पर एक बार फिर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अभी तक सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत नहीं दिया है। केंद्र सर्जिकल स्ट्राइक की बात करता है कि हमने इतने लोगों को मारा है, लेकिन इसका कोई सबूत नहीं है। दिग्विजय ने दावा किया कि पुलवामा हमले के वक्त सीआरपीएफ के अधिकारियों ने जवानों को एयरलिफ्ट करने की बात कही थी, लेकिन केंद्र सरकार ने उनकी एक नहीं सुनी।

जम्मू में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने अभी तक 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक और 2019 के पुलवामा हमले की रिपोर्ट संसद में पेश नहीं की है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार केवल झूठ फैला रही है। दिग्विजय ने कहा कि पुलवामा हमले के समय सीआरपीएफ के निदेशक ने संवेदनशील इलाका होने की बात कहकर जवानों को एयरलिफ्ट करने का अनुरोध किया था। लेकिन केंद्र सरकार ने उनकी एक नहीं सुनी। आखिर पुलवामा में हमारे 40 जवान शहीद हुए। पुलवामा में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे।

दिग्विजय ने कहा कि कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने से किसे फायदा हुआ? पहले कहते थे कि इससे आतंकवाद खत्म होगा, हिंदू हावी होंगे लेकिन चूंकि धारा 370 हटाई गई है। आतंकवाद बढ़ा है। हर दिन कुछ न कुछ हो रहा है। पहले यह आतंकवाद घाटी तक ही सीमित था, लेकिन अब यह रजौरी, डोडा तक पहुंच गया है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)