दिल्ली शराब घोटाला: ED ने समीर महेंद्रू के खिलाफ दाखिल की 3000 पन्नों की चार्जशीट

शराब

नई दिल्लीः दिल्ली आबकारी नीति मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा अपनी पहली चार्जशीट दायर करने के एक दिन बाद, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को राउज एवेन्यू कोर्ट के समक्ष मामले में अपनी पहली चार्जशीट दाखिल की। ईडी की 3,000 पन्नों की चार्जशीट में कारोबारी समीर महेंद्रू का नाम है। ऐसे आरोप हैं कि हैदराबाद में कोकापेट के निवासी अरुण रामचंद्र पिल्लई विजय नायर के माध्यम से आरोपी लोक सेवकों को आगे भेजने के लिए महेन्द्रू से अनुचित आर्थिक लाभ एकत्र करते थे।

ये भी पढ़ें..ED ने आबकारी नीति मामले में समीर महेंद्रू के खिलाफ दाखिल की चार्चशीट

ईडी का मामला सीबीआई द्वारा दायर एक एफआईआर पर आधारित है। सीबीआई ने शुक्रवार को दिल्ली आबकारी नीति मामले में अपना पहला आरोप पत्र दायर किया, जिसमें सात आरोपी व्यक्तियों विजय नायर, अभिषेक बोइनपल्ली, समीर महेंद्रू, अरुण रामचंद्र पिल्लई, मूथा गौतम, और दो लोक सेवक तत्कालीन आबकारी विभाग में उपायुक्त कुलदीप सिंह और तत्कालीन आबकारी विभाग में सहायक आयुक्त नरेंद्र सिंह शामिल हैं।

राउज एवेन्यू कोर्ट के समक्ष दायर सीबीआई के आरोप पत्र में उल्लेख किया गया है कि अधिक लोक सेवकों और अन्य लोगों की संभावित संलिप्तता का पता लगाने के लिए आगे की जांच चल रही है। दरअसल ईडी इस मामले में अब तक कुल 5 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। पूछताछ के बाद 27 सितम्बर को प्रवर्तन निदेशालय ने महेंद्रू को गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने भी इस सप्ताह की शुरुआत में इस मामले में अपना पहला आरोपपत्र दाखिल किया था।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)