Monday, June 17, 2024
spot_img
Homeदिल्लीप्रदूषण से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने कसी कमर, चलाया विशेष...

प्रदूषण से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने कसी कमर, चलाया विशेष अभियान

odd-even-improvement-air-pollution

नई दिल्लीः दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने मंगलवार को वायु प्रदूषण (pollution) के मद्देनजर पूरी दिल्ली में पानी का छिड़काव करने के लिए एक विशेष अभियान शुरू किया। दिल्ली सचिवालय के पास आयोजित कार्यक्रम के दौरान पर्यावरण मंत्री ने पानी छिड़कने वाली मशीनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पानी का छिड़काव करने के लिए 215 मोबाइल एंटी स्मॉग गन लगाई गई हैं। सभी 70 विधानसभाओं में 70 मोबाइल एंटी स्मॉग गन से छिड़काव किया जाएगा।

पानी छिड़काव का अभियान

गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली सरकार लोगों के सहयोग से प्रदूषण कम करने में सफल रही है। सरकार प्रदूषण कम करने के लिए कई अभियान चला रही है। इसमें एंटी डस्ट अभियान, एंटी ओपन बर्निंग अभियान, बायो डीकंपोजर का छिड़काव, वृक्षारोपण अभियान आदि शामिल हैं। AQI को देखते हुए मंगलवार से पूरी दिल्ली की सड़कों पर 215 मोबाइल एंटी-स्मॉग गन से पानी छिड़काव का अभियान शुरू किया गया है।

दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में 70 मोबाइल एंटी-स्मॉग गन से छिड़काव किया जाएगा। इसके अलावा हॉटस्पॉट के लिए 60 मोबाइल एंटी-स्मॉग गन लगाई गई हैं। ये मोबाइल एंटी-स्मॉग गन सुबह से शाम तक सड़कों पर पानी का छिड़काव करेंगी।

बढ़ाई गईं मशीनें

गोपाल राय ने कहा कि बारिश का असर अब खत्म हो रहा है और हवा की गति भी कम हो रही है। इसलिए हम जल छिड़काव का विशेष अभियान शुरू कर रहे हैं। इसके लिए पहले हमारे पास 345 पानी छिड़कने वाली मशीनें काम कर रही थीं, जिसमें 30 मशीनें और बढ़ा दी गई हैं और अब कुल 375 पानी छिड़कने वाली मशीनें दिल्ली की सड़कों पर पानी छिड़केंगी। इसके साथ ही मोबाइल एंटी स्मॉग गन जो पहले 192 थीं, उनमें 23 की बढ़ोतरी की गई है और अब 215 मोबाइल स्मॉग गन सड़कों पर चलाई जाएंगी। इसी तरह ऊंची इमारतों पर 106 एंटी-स्मॉग गन तैनात हैं, जो अपना काम कर रही हैं।

यह भी पढ़ेंः-ऊर्जा मंत्री बोले- बिजली की जरूरतों से कोई समझौता नहीं

पर्यावरण मंत्री ने कहा कि सरकार की पहल से पंजाब में पराली जलाने की संख्या में कमी आई है। यह पंजाब सरकार के प्रयासों का नतीजा है कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष पराली जलाने की घटनाओं में 60 प्रतिशत की कमी आई है।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

सम्बंधित खबरें