Lucknow: जानलेवा चायपत्ती बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़, तीन गिरफ्तार

लखनऊः यूपी एसटीएफ को उस वक्त बड़ी सफलता हाथ लगी जब उसने नकली चायपत्ती बनाने वाली फैक्ट्री का भण्डाफोड़ कर तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया। एसटीएफ ने बताया कि ये लोग खुली चाय खरीदकर उसमें वे विभिन्न प्रकार के मानव जीवन को हानि पहुंचाने वाले केमिकल व कलर मिलाकर ब्रांडेड कम्पनियों की पैकिंग में पैक कर बाजार में आसानी से बेच देते थे।

लखनऊ से तीन अभियुक्त गिरफ्तार
यूपी एसटीएफ ने इस मामले में लखनऊ के तीन लोगों मो. दाउद, मो. जैद और और तबरेज हाशमी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से 200 किलो गोल्डन चाय अपमिश्रित, 160 किलो गार्डेन फ्रेश चाय, 3 ड्रम कलर, 80 किलो खुली चाय, 12 बारियों में पैकिंग की हजारों पन्नियाँ, 3 कार्टन गार्डेन फ्रेश चाय का टेप, 1 कार्टन में स्टीकर गार्डेन फ्रेश चाय का, एक डाई गार्डन फ्रेश और तीन तौल मशीन बरामद की गई हैं।

चायपत्ती में मिलाते थे हानिकारक केमिकल व कलर
एसटीएफ को बीते काफी समय से मुखबिर से सूचना मिल रही थी कि लखनऊ में लूज चाय पत्ती को खरीदकर उसमें मानव जीवन को हानि पहुँचाने वाले विभिन्न प्रकार के केमिकल व कलर मिलाकर ब्रान्डेड कम्पनियों के नाम पर नकली चायपत्ती बनाकर उसे बाजार में बेचने वाले गिरोह सक्रिय हैं। इसी को ध्यान में रखकर एसटीएफ की विभिन्न टीमों को लगाया गया। इसी क्रम में दीपक कुमार सिंह, पुलिस उपाधीक्षक, एसटीएफ के पर्यवेक्षण से एसटीएफ मुख्यालय स्थित टीम द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्रवाई प्रारम्भ की गयी तथा अमिसूचना तन्त्र को सक्रिय किया गया।

ब्रांडेड पैकेट में बेची जाती थी मिलावटी चायपत्ती
विभिन्न प्रकार के केमिकल व कलर मिलाकर ब्रान्डेड कम्पनियों जैसे गोल्डेन फ्रेश, गार्डन फ्रेश आदि चाय पत्ती की हू-ब-हू नकल बनाकर उसे बाजार में बेचने वाले मो. दाउद, मो. जैद नाम के दो व्यक्ति है जो मकान नं. 544/290 वंशी विहार बालागंज, थाना ठाकुरगंज में रहते हैं तथा इसी मकान में यह मिलावट व पैकिंग करने वाली फैक्ट्री का संचालन करते हैं। यह सूचना मिलने पर एसटीएफ के उप निरीक्षक तेज बहादुर सिंह के नेतृत्व में मुख्य आरक्षी विनोद कुमार यादव, मुख्य आरक्षी पवन सिंह विशेन, मुख्य आरक्षी कृष्णा कांत शुक्ल, मुख्य आरक्षी हिमांशु शुक्ल, आरक्षी आलोक रंजन चालक नीरज व खाद्य सुरक्षा एवं औषधीय प्रशासन की संयुक्त टीम ने बल प्रयोग करते हुए तीनो व्यक्तियों को पकड़ लिया।

ये भी पढ़ें..डीजीसीए ने उड़ानों के लिए वन्यजीवों के खतरों को रोकने के…

लखनऊ समेत आस-पास के जिलों में होती थी सप्लाई
विस्तृत पूछताछ पर मो. जैद व दाउद ने बताया कि हम दोनो भाई जनपद लखनऊ व आस-पास के जनपदों में खुली चायपत्ती बेचने वाले व्यापारियों से चायपत्ती खरीदते है। इसके बाद कानपुर से ब्रांडेड कम्पनियों जैसे गोल्डेन फ्रेश, गार्डन फ्रेश आदि की पैकिंक का सामान रैपर, टेप कलर, डाई आदि खरीदकर पूर्व से खरीदी हुई खुली चाय पत्तियों को अपने द्वारा बनाये हुए ब्राण्डेड चाय कम्पनियों के पैकेट में पैकिंग कर लखनऊ की अधिकांश छोटी चाय की दुकानों पर सप्लाई करते हैं। यह कार्य दोनो भाई लगभग 5-6 साल से कर रहे हैं। गिरफ्तार अभियुक्तों को थाना थाना ठाकुरगंज कमिश्नरेट लखनऊ में दाखिल कर विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।

पवन सिंह चौहान की रिपोर्ट

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक औरट्विटरपर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…