मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने छोड़ा सरकारी आवास, बांद्रा स्थित मातोश्री बंगले पर पहुंचे

मुंबई: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार रात 9 बजकर 47 मिनट पर सरकारी आवास वर्षा बंगला खाली कर दिया है और बांद्रा स्थित अपने निजी आवास मातोश्री बंगले पर पहुंचे हैं। वर्षा बंगले से मातोश्री बंगले के बीच की 11 किलोमीटर की दूरी तय करने में मुख्यमंत्री को 57 मिनट का समय लगा। इस बीच मुख्यमंत्री का जगह-जगह लोगों ने फूल बरसाते हुए स्वागत किया और मुख्यमंत्री के समर्थन में नारे भी लगाए। मुख्यमंत्री के साथ उनकी पत्नी रश्मि ठाकरे, बेटे आदित्य ठाकरे तथा तेजस ठाकरे साथ थे।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से महाराष्ट्र की जनता को संबोधित किया था। उस समय उन्होंने कहा था कि जो लोग सूरत तथा गुवाहाटी जाकर उनपर आरोप लगा रहे हैं, वे आएं और उनसे चर्चा करें तथा उनका इस्तीफा लेकर राजभवन जाएं। उसी समय उन्होंने कहा था कि वे आज ही मातोश्री बंगला छोड़ देंगे।

देर रात को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने परिवार सहित 9 बजकर 47 मिनट पर सरकारी आवास वर्षा बंगला छोड़ दिया। इसके बाद मुख्यमंत्री का जगह-जगह स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री ने गाड़ी से उतर कर नागरिकों के स्वागत का हाथ हिलाकर जवाब भी दिया। मातोश्री बंगले पर रात 10 बजकर 44 मिनट पर पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री ठाकरे बाहर ही गाड़ी से उतर गए। इसका कारण मातोश्री बंगले पर उनका स्वागत करने के लिए भारी भीड़ जमा थी। इन सभी का अभिवादन करने के बाद मुख्यमंत्री ने पैदल चलते हुए बंगले में प्रवेश किया। इस समय मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि आज अचानक उन्हें अपने स्कूली दिनों की याद आ गई। स्कूली दिनों में वे इसी तरह बंगले से पैदल निकला करते थे।