Featured पंजाब राजनीति

चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में बड़ा खेला... मेयर ने दिया इस्तीफा, AAP के तीन पार्षद भी BJP में शामिल

mayor-election-aam-aadmi-party-3-councilor-joins-bjp
Chandigarh Mayor Election, चंडीगढ़ः चंडीगढ़ नगर निगम मेयर चुनाव में कथित धांधली को लेकर सोमवार यानी आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। इससे पहले रविवार रात चंडीगढ़ में बड़ा राजनीतिक फेरबदल हुआ। विवादों से घिरे मेयर मनोज सोनकर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच आम आदमी पार्टी (AAP) के तीन पार्षद भी BJP में शामिल हो गए। अब अगर चंडीगढ़ में दोबारा चुनाव होते हैं तो भारतीय जनता पार्टी की जीत लगभग तय है।

चुनाव में धांधली को लेकर दायर की गई थी याचिका

दरअसल मेयर चुनाव के दौरान हुई कथित धांधली के खिलाफ इंडिया गठबंधन के उम्मीदवार कुलदीप सिंह टीटा की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। गठबंधन ने बीजेपी पर चंडीगढ़ मेयर चुनाव में रिटर्निंग ऑफिसर अनिल मसीह द्वारा वोटों की गिनती में धांधली करने का आरोप लगाया है। भाजपा ने फर्जी तरीके से मनोज सोनकर को मेयर बनाया है। ये भी पढ़ें..GBC 4.0: PM Modi आज यूपी में करेंगे 10 लाख करोड़ से अधिक की 14 हजार परियोजनाओं का शुभारंभ

AAP के तीन पार्षद भाजपा में हुई शामिल

पिछली सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सख्त टिप्पणी की थी। मेयर चुनाव को लेकर आज चंडीगढ़ प्रशासन कोर्ट में अपना जवाब दाखिल करेगा। कोर्ट ने रिटर्निंग ऑफिसर अनिल मसीह द्वारा आठ वोटों को अवैध घोषित करने पर आपत्ति जताते हुए रिटर्निंग ऑफिसर अनिल मसीह को व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में पेश होने को भी कहा था। इस बीच चंडीगढ़ में आम आदमी पार्टी के तीन पार्षद रविवार रात दिल्ली पहुंचे और बीजेपी में शामिल हो गए। पार्टी प्रभारी विनोद तावड़े की मौजूदगी में आप पार्षद पूनम देवी, नेहा मुसावत और गुरचरणजीत सिंह काला ने बीजेपी की सदस्यता ली। पार्टी महासचिव विनोद तावड़े ने कहा कि चंडीगढ़ के पार्षद गुरचरण काला एक साल पहले बीजेपी में शामिल हुए थे, लेकिन आम आदमी पार्टी ने पंजाब की सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर उन्हें रिसॉर्ट में बंद करवा दिया। हर बार की तरह इस बार भी अरविंद केजरीवाल ने पूनम देवी और नेहा मुसावत से झूठे वादे किये। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)