Budget session: सीएम योगी ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां, विपक्ष पर साधा निशाना

budget-session-cm-yogi-achievements-up

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को विधानसभा में बजट पर (Budget session) चर्चा के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने के फैसले समेत केंद्र सरकार के कार्यों की सराहना की और अपनी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। साथ ही विपक्ष पर भी खूब कटाक्ष किये। उन्होंने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि आपने लूटे मिलियन, हम देंगे प्रदेश को वन ट्रिलियन।

केंद्र सरकार का आभार

नेता सदन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महान विभूतियों को भारत रत्न से सम्मानित करने के लिए वह केंद्र सरकार के प्रति आभार व्यक्त करते हैं। चौधरी साहब का सम्मान देश के करोड़ों अन्नदाता किसानों का सम्मान है। प्रदेश के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री के रूप में चौधरी साहब के विकास के प्रयास सराहनीय हैं। 2014 के बाद किसान राजनीतिक एजेंडे पर आये। ये चौधरी साहब की देन है। मैं सोच रहा था कि जब विपक्षी दलों के नेता बजट पर बोलेंगे तो चौधरी साहब पर बोलेंगे लेकिन…. उनकी स्थिति ऐसी हो गई है कि कोई भी साथ नहीं आ रहा है, क्योंकि सब जानते हैं कि वे कब किसे धोखा दे देंगे, कोई नहीं जानता।

अर्थव्यवस्था को बढ़ाने वाला बजट

उन्होंने कहा कि अमृत काल के पहले बजट में राम राज्य की संकल्पना को समाहित करने का प्रयास किया गया है। बजट उत्तर प्रदेश को समृद्ध बनाने का प्रयास है। बजट में अंत्योदय से लेकर विकसित अर्थव्यवस्था तक के प्रयास हैं। कृषि कल्याण से लेकर गरीबों तक, महिलाओं को स्वस्थ, आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने का संकल्प है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि विपक्षी दल के नेता को बजट के आकार की चिंता होगी। यह बजट देश के किसी भी राज्य का सबसे बड़ा बजट है। विपक्षी पार्टी का बजट 2016 के चुनावी बजट से दोगुने से भी ज्यादा है। बजट में सबसे आखिरी चीज व्यक्ति के विकास के लिए है।

बजट में राम राज्य की संकल्पना

उत्तर प्रदेश की जीडीपी की बात करें तो कोरोना महामारी के बावजूद पिछले 7 वर्षों में जीएसडीपी दोगुनी हो गई है। प्रदेश को जहां पहुंचने में 70 साल लगे, हमने उसे सात साल में आगे बढ़ाया। आज उत्तर प्रदेश देश की नंबर दो अर्थव्यवस्था बन गया है। आज प्रदेश बीमारू राज्य से राजस्व सरप्लस राज्य है। प्रदेश में पेट्रोल डीजल का रेट देश में सबसे कम है। इसका कारण रामराज्य की संकल्पना है।

जैसे बादल जब बरसता है तो सब पर समान रूप से बरसता है। ये बजट है। कोई नया आरोप नहीं लगाया गया। सभी 75 जिलों को समान दृष्टि से देखा गया। हमने टैक्स चोरी रोकी, राजस्व बढ़ाया। आज प्रदेश में लेनदेन डिजिटल तरीके से होता है। ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता है। डीबीटी के माध्यम से सीधा लाभ दिया जा रहा है। राज्य में बैंकिंग सेवाएँ अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। उत्तर प्रदेश में बैंकिंग कारोबार 26 लाख करोड़ रुपये का हो गया है।

यह भी पढ़ेंः-सरकार का ‘जल जीवन मिशन’ पर फोकस, मॉनिटरिंग के लिए नियुक्त किए गए अधिकारी

सदन के नेता ने विपक्षी दल के नेता पर व्यंग्य करते हुए कहा कि आप अयोध्या नहीं जाना चाहते। अक्सर ब्रिटेन जाते हैं। टिकट कौन बुक करता है? यह भी ज्ञात है। आपने अपने कार्यकाल में विफलता राज्य दिया था। हमने एक सुरक्षित राज्य बनाया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)