साधुओं की पिटाई पर मचा बवाल, BJP ने ममता सरकार पर साधा निशाना, कहा- यहां हिंदू होना अपराध…

0
21

कोलकाताः पश्चिम बंगाल में पालघर जैसी सनसनीखेज घटना सामने आई है। यहां के पुरुलिया जिले में भीड़ द्वारा कथित तौर पर यूपी के साधुओं की बेरहमी से पिटाई (Sadhus Attack ) कर दी। हालांकि मौके पर पहुंची पुलिस ने साधुओं को भीड़ से बचा कर नजदीकी पुलिस स्टेशन पहुंचाया। फिलहाल पुलिस ने साधुओं को पीटने के मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं साधुओं की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

भाजपा ने ममता सरकार पर साधा निशाना

उधर वीडियो सामने आने के बाद भाजपा ने सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) पर जमकर निशाना साधा है। भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्विटर पर लिखा, पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में पालघर जैसी लिंचिंग की घटना हुई है। मकर संक्रांति के लिए गंगासागर जा रहे साधुओं को सत्तारूढ़ टीएमसी से जुडे़ लोगों ने निर्वस्त्र कर पीटा। ममता बनर्जी के शासन में शाहजहां शेख को सरकारी संरक्षण मिलता है और साधुओं की हत्या की जा रही है। पश्चिम बंगाल में हिंदू होना अपराध बन गया है।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि TMC की राजनीति कर ऐसा माहौल बनाया गया है। वहां हिंदुओं को जश्न मनाने की भी इजाजत नहीं है। अब हिंदू साधुओं को पीटने और उनकी हत्या करने की कोशिश की जा रही है। जबकि सरकार मूकदर्शक बनी हुई है।

ये भी पढ़ें..यूपी के साधुओं पर पश्चिम बंगाल में हमला, भीड़ ने बेरहमी से पीटा, अब तक 12 गिरफ्तार

अब तक 12 गिरफ्तार

बता दें कि यह घटना गुरुवार की है। इस घटना पर पुलिस का दावा है कि स्थानीय लोगों ने साधुओं को बच्चा चोर समझ कर पिटाई की। घटना को लेकर पुरुलिया के पुलिस अधीक्षक अभिजीत बनर्जी ने कहा कि साधुओं पर हमला करने वाले 12 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की अभी भी जांच की जा रही है। घटना में शामिल अन्य लोगों की तलाश के लिए भी छापेमारी की जा रही है।

भीड़ ने साधुओं के वाहन में भी की तोड़फोड़

पुलिस ने बताया कि यूपी के तीन साधु, एक व्यक्ति और उसके दो बेटे मकर संक्रांति पर स्नान करने के लिए गंगासागर जा रहे थे। इसी दौरान वह रास्ता भटक गये और तीन लड़कियों से रास्ता पूछा। हालांकि साधुओं को देखकर लड़कियां डर गई और चिल्लाते हुए भाग गईं। इसके बाद स्थानीय लोगों ने साधुओं को पकड़ लिया और उनकी पिटाई शुरू कर दी।

मामला बढ़ने पर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और तीनों साधुओं को काशीपुर थाने ले आई। बाद में पुलिस ने साधुओं को गंगासागर मेले तक ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था की। वहीं इस घटना सा का वीडियो सोशल मीडिया पर पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें गुस्साई भीड़ साधुओं के वाहन में भी तोड़फोड़ करती दिख रही है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)