न तार खींचे न दिया कनेक्शन…फिर भी बिल भेज रहा बिजली विभाग

0
9

Electricity bill without connection , बांदाः यूपी सरकार भले ही लाख दावा कर रही है कि हर गांव में बिजली पहुंच गयी है। लेकिन विभागीय अधिकारी व कर्मचारी सरकार के दावों को पलीता लगाने का काम कर रहे हैं। जिले की बबेरू तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत पल्हरी में ऐसे 24 अभागे किसान हैं। उन्हें 2019-20 में बिजली मीटर सौंपे गए और कहा गया कि जल्द ही गांव में बिजली पहुंचा दी जाएगी। जो आपके घर को रोशन कर देगा।

न तो तार खींचे न ही खंभे लगाए

लेकिन 4 साल बाद भी उनके घरों में बिजली तो नहीं पहुंची, लेकिन उनके मोबाइल फोन पर बिल आने लगा है। इतना ही बिल न भरने पर विभाग उन्हें जेल भेजने की धमकी भी देने लगा है। कई बार विभाग से शिकायत करने के बावजूद विभाग ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है।इसी गांव के किसान शिव शंकर ने बताया कि 2019-20 में बिजली विभाग के ठेकेदार गांव पहुंचे थे।

उन्होंने कहा कि आपके गांव में बिजली आने वाली है। जो लोग बिजली कनेक्शन लेना चाहते हैं वे अपना नाम बताएं। नाम बताने पर करीब 24 किसानों को बिजली मीटर दे दिये गये। लेकिन धीरे-धीरे 2 साल बीत गए और न तो बिजली के तार खींचे गए और न ही खंभे लगाए गए।

इसके बाद भी हमारे मोबाइल पर बिजली का बिल आने लगा। तब हम सभी किसानों ने विभाग में जाकर शिकायत दर्ज कराई और वहां के अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि जल्द ही आपके यहां बिजली की लाइन खींच दी जाएगी और मौजूदा बिल माफ कर दिया जाएगा और नया बिल देना शुरू कर दिया जाएगा। आश्वासन मिलने के बाद भी 4 साल हो गए लेकिन लाइन नहीं आई, बिल लगातार आ रहे हैं।

ये भी पढ़ें..Ayodhya Ram Mandir: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दिन सार्वजनिक अवकाश की उठी मांग

बिना बिजली के बिल का भुगतान कैसे करें किसान ?

सोमवार को जिलाधिकारी से शिकायत करने पहुंचे इन किसानों ने बताया कि हमारी लगातार शिकायतों के चलते विभाग ने दो माह पहले वहां 30 पोल लगाए थे, लेकिन दो माह बाद भी न तो पोल लगे और न ही लाइन खींची गई। इसके विपरीत विभाग द्वारा उपभोक्ता किसानों से वसूली के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

बिना बिजली के हम बिजली बिल का भुगतान कैसे करें? इस संबंध में किसानों ने जिला पदाधिकारी को संबोधित एक शिकायती पत्र दिया है। उनका कहना है कि वह पहले भी ऐसे कई शिकायती पत्र दे चुके हैं लेकिन अब तक उन्हें कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि अगर जल्द ही हमारे गांव में बिजली नहीं आयी तो हम उपभोक्ता फोरम का दरवाजा खटखटाने को बाध्य होंगे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)