Zomato के को-फाउंडर ने अचानक दिया अपने पद से इस्तीफा, लुढ़का शेयर, सामने आई ये वजह

zomato

नई दिल्लीः ऑनलाइन खाना पहुंचाने वाले ऐप Zomato से एक बड़ी खबर सामने आई है। Zomato के को-फाउंडर गौरव गुप्ता ने कंपनी से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि गौरव गुप्ता 2015 में Zomato से जुड़े थे और उन्हें 2018 में कंपनी का चीफ ऑपरेटिव ऑफिसर बनाया गया था। साथ ही गौरव आईपीओ के लिए कंपनी का चेहरा थे, जो निवेशकों और मीडिया के साथ प्रमुखता से चर्चा में शामिल थे। इस खबर से Zomato कंपनी के शेयर लगातार गिर रहे हैं जो कंपनी के लिए चिंता का विषय बना हुआ है।

इस्तीफे के पीछे कई वजहें

अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि गौरव गुप्ता ने Zomato से क्यों इस्तीफा दिया है लेकिन सूत्रों की मानें तो फाउंडर दीपिंदर गोयल और को-फाउंडर गौरव गुप्ता के बीच कुछ भी अच्छा नहीं चल रहा था। गौरव गुप्ता के शुरू किए सभी बिजनेस लगभग बंद हो चुके है। इसके पीछे कारण गौरव गुप्ता के शुरू किए बिजनेस अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे थे।

वहीं जोमैटो ने बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बीच अपनी किराना डिलीवरी सेवा को दूसरी बार बंद करने का फैसला किया है। कंपनी का मानना है कि ग्रोफर्स में उसके निवेश से उसके इन-हाउस ग्रॉसरी प्रयास की तुलना में बेहतर परिणाम मिलेंगे। जोमैटो ने अपने किराना भागीदारों को एक मेल के माध्यम से सूचित किया है कि वह 17 सितंबर से अपनी पायलट सेवा को बंद करने की योजना बना रहा है।

यह भी पढे़ंः-वर्धा नदी में नाव असंतुलित होकर पलटी, एक ही परिवार के 11 लोग डूबे

दीपिंदर गोयल ने अपने पुराने दोस्त पंकज चड्ढा के साथ मिलकर जोमैटो की शुरुआत की थी। ये ऑनलाइन फूड डिलीवरी की एशिया में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। दीपिंदर का जन्म पंजाब के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। आईआईटी दिल्ली से उन्होंने पढ़ाई की है। किसी भी आम पंजाबी की तरह दीपिंदर भी खाने के शौकीन रहे हैं। इसी शौक ने जोमैटो की कल्पना को साकार किया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)