Zomato ने बंद की किराना डिलीवरी सर्विस, अब बना रहा ये योजना

नई दिल्लीः खाद्य प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी जोमैटो ने बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बीच अपनी किराना डिलीवरी सेवा को दूसरी बार बंद करने का फैसला किया है। कंपनी का मानना है कि ग्रोफर्स में उसके निवेश से उसके इन-हाउस ग्रॉसरी प्रयास की तुलना में बेहतर परिणाम मिलेंगे। जोमेटो ने अपने किराना भागीदारों को एक मेल के माध्यम से सूचित किया है कि वह 17 सितंबर से अपनी पायलट सेवा को बंद करने की योजना बना रहा है।

जोमेटो के प्रवक्ता ने कहा, “हमने अपने ग्रॉसरी पायलट को बंद करने का फैसला किया है और अब तक, हमारे प्लेटफॉर्म पर किराना डिलीवरी के किसी अन्य रूप को चलाने की कोई योजना नहीं है।” प्रवक्ता ने कहा, “ग्रोफर्स ने 10 मिनट की किराना में उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद बाजार को फिट पाया है और हमें विश्वास है कि कंपनी में हमारा निवेश हमारे शेयरधारकों के लिए हमारे इन-हाउस किराना प्रयास से बेहतर परिणाम देगा।”

यह भी पढ़ेंः-क्रूरता की पराकाष्ठाः तालिबान ने अफगान सैनिक का सिर काटकर निकाली…

हाल ही में सूचीबद्ध कंपनी ने अपने ग्राहकों को 45 मिनट के भीतर डिलीवरी की पेशकश करते हुए चुनिंदा बाजारों में अपनी किराना सेवा पायलट शुरू की थी। पिछले महीने, भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने जोमेटो द्वारा ई-किराना ग्रोफर्स में 9.3 प्रतिशत हिस्सेदारी के प्रस्तावित अधिग्रहण को मंजूरी दी थी। इस अधिग्रहण में जोमेटो द्वारा ऑनलाइन ग्रोसर में 10 करोड़ डॉलर का निवेश शामिल है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)