स्वास्थ्य सुविधाओं में स्वर्णिम अध्याय जोड़ेगी योगी सरकार, पीएम मोदी सात नए मेडिकल कॉलेजों की देंगे सौगात

सिद्धार्थनगरः उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य सुविधाओं और चिकित्सा शिक्षा के इतिहास में आगामी 25 अक्टूबर को एक नया और स्वर्णिम अध्याय जुड़ने जा रहा है। भगवान बुद्ध की धरती सिद्धार्थनगर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक साथ सात नए राज्य स्वायत्तशासी मेडिकल कॉलेजों के उद्घाटन करेंगे। इसकी जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेशवासियों को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं देने को प्रतिबद्ध सरकार पूरे राज्य में मेडिकल कॉलेजों की श्रृंखला खड़ी कर रही है।

मुख्यमंत्री योगी ने शनिवार को सिद्धार्थनगर के नवनिर्मित माधव प्रसाद त्रिपाठी राज्य स्वायत्तशासी मेडिकल के लोकार्पण समारोह को लेकर कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण व अधिकारियों संग बैठक करने के बाद मीडियाकर्मियों से बात की। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिद्धार्थनगर के मेडिकल कॉलेज का निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत हुआ है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में मेडिकल कॉलेजों की कतार खड़ी हुई है। विगत वर्ष बस्ती मेडिकल कॉलेज और दो वर्ष पूर्व बहराइच मेडिकल कॉलेज को प्रारम्भ किया गया था। वहां एमबीबीएस का दूसरा बैच चल रहा है। इसी प्रकार अयोध्या में भी मेडिकल कॉलेज सेवप्रदायी है। योगी ने कहा कि दो वर्ष पूर्व उन्होंने सिद्धार्थनगर जिले में मेडिकल कॉलेज बनाने की घोषणा की थी। अब यह बनकर तैयार है। इसके समेत राज्य के सात मेडिकल कॉलेजों को नेशनल मेडिकल काउंसिल से मान्यता मिल गई है। इन सभी मेडिकल कॉलेजों में इसी सत्र से नीट के जरिये एमबीबीएस की 100-100 सीटों पर प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएगी। सिद्धार्थनगर मेडिकल कॉलेज जनसंघ की स्थापना काल से जुड़े रहे लोकप्रिय सेनानी, राजनीतिज्ञ एवं भाजपा उत्तर प्रदेश के पहले अध्यक्ष माधव प्रसाद त्रिपाठी माधव बाबू के नाम से जाना जाएगा। इस मेडिकल कॉलेज में हॉस्पिटल, छात्रावास, स्टाफ आवास की सभी व्यवस्था पूर्ण है और फैकल्टी भी पूरी है। कुल मिलाकर यह मेडिकल कॉलेज एमबीबीएस के पहले सत्र के लिए पूरी तरह तैयार है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मेडिकल कॉलेज के माध्यम से न केवल सिद्धार्थनगर बल्कि बलरामपुर, महराजगंज और पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल के लोगों को बेहतरीन चिकित्सा सुविधा मिलेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 25 अक्टूबर को सिद्धार्थनगर मेडिकल कॉलेज के लोकार्पण समारोह में उनके भव्य अभिनंदन के लिए बुद्ध की यह धरती तैयार है। यहीं से प्रधानमंत्री मोदी देवरिया, एटा, हरदोई, गाजीपुर, मिर्जापुर व प्रतापगढ़ के मेडिकल कॉलेजों का भी उद्घाटन करेंगे। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि गोरखपुर-बस्ती मंडल में मेडिकल कॉलेज के नाम पर एकमात्र गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज था। गोरखपुर में एम्स भी बनकर तैयार है। अगले एक-डेढ़ माह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कर कमलों इसका भी उद्घाटन कराया जाएगा। देश की 44 योजनाओं में नम्बर एक उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अब मेडिकल कॉलेजों के उद्घाटन से एक नया रिकॉर्ड बनाने जा रही है। यूपी देश का पहला ऐसा राज्य होगा जहां एकसाथ सात राज्य स्वायत्तशासी मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन होने जा रहा है। इन मेडिकल कॉलेजों के संचालित होने से इसी सत्र से उत्तर प्रदेश में एमबीबीएस की 700 सीटें बढ़ जाएंगी। इन सभी सात मेडिकल कॉलेजों को नेशनल मेडिकल काउंसिल से एमबीबीएस की 100-100 सीटों पर प्रवेश की अनुमति मिली है। इससे आने वाले सालों में राज्य में चिकित्सकों की कमी नहीं रहेगी।

यह भी पढ़ें-कोरोना पर अंकुश लगाने को इस देश में लगा तीन दिन…

महान विभूतियों के नाम से संचालित होंगे मेडिकल कॉलेज
मेडिकल कॉलेजों से जहां चिकित्सा व चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में यूपी और सशक्त होगा, वहीं प्रदेश सरकार इसके जरिये महान विभूतियों का नाम भी प्रतिष्ठित कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप सभी जिलों में बने मेडिकल कॉलेज उस जिले की महान विभूति, सेनानी या महापुरुष के नाम से संचालित होंगे। सिद्धार्थनगर का मेडिकल कॉलेज माधव प्रसाद त्रिपाठी के नाम से, देवरिया का मेडिकल कॉलेज महर्षि देवरहा बाबा के नाम से, गाजीपुर का मेडिकल कॉलेज महर्षि विश्वामित्र के नाम से, मिजार्पुर का मेडिकल कॉलेज मां विंध्यवासिनी के नाम से, प्रतापगढ़ का मेडिकल कॉलेज डॉ सोनेलाल पटेल के नाम से, एटा का मेडिकल कॉलेज वीरांगना अवंतीबाई लोधी के नाम से संचालित होगा।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)