सेनाओं में एनडीए के जरिये हो सकेगी महिलाओं की नियुक्ति, रक्षा मंत्रालय ने SC को दी जानकारी

नई दिल्ली: तीनों सेनाओं के लिए मई, 2022 से नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) की प्रवेश परीक्षा में शामिल हो सकेंगी, यह महिलाओं का पहला बैच होगा। रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट को हलफनामा के जरिये बताया कि नेशनल डिफेंस अकादमी में अगले साल मई से महिला कैडेट्स के दाखिले की तैयारी शुरू कर दी जाएगी। सरकार दो हफ्ते में इसे लेकर अपनी योजना पेश करेगी। अगली सुनवाई 22 सितंबर को होगी।

इस मामले की सुनवाई के दौरान 8 सितंबर को केंद्र सरकार की ओऱ से वकील ऐश्वर्या भाटी ने कोर्ट से कहा था कि तकनीकी दिक्कतों और इंफ्रास्ट्रक्चर में बदलाव की जरूरत है, जिसकी वजह से इस साल फैसले पर अमल करना संभव नहीं होगा। उन्होंने इस साल यथास्थिति बनाये रखने की छूट देने की मांग की। कोर्ट ने इस फैसले पर ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा था कि आर्म्ड फोर्सज जैसे सम्मानित सर्विस में महिलाओं को बराबर का अधिकार सुनिश्चित करने की दिशा में ये अहम होगा।

अभी तक एनडीए और नेवल एकेडमी में सिर्फ लड़कों को ही दाखिला मिलता रहा है। कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया था कि ऐसा करना उन योग्य लड़कियों के अधिकारों का हनन है, जो सेना में शामिल होकर देश की सेवा करना चाहती हैं। सरकार दो हफ्ते में इसे लेकर अपनी योजना पेश करेगी। अगली सुनवाई 22 सितंबर को होगी।

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने 17 फरवरी, 2020 को सेना में महिलाओं के कमांडिग पदों पर स्थायी कमीशन देने का आदेश जारी किया था। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच ने फैसला सुनाते हुए कहा था कि महिलाओं को युद्ध के सिवाय हर क्षेत्र में स्थायी कमीशन दिया जाए।