इंतजार की घड़ियां खत्म, देश में 16 जनवरी से शुरू होगा कोरोना टीकाकरण अभियान

83

नई दिल्ली: देश भर में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू होगा। शनिवार को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक में यह फैसला लिया गया है। कोरोना वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य वर्करों और फ्रंटलाइन वर्करों को दी जाएगी, जिनकी संख्या लगभग 3 करोड़ है। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कोरोना टीकाकरण के लिए राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों की तैयारियों के साथ देश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा की। बैठक में कैबिनेट सचिव, प्रधान सचिव, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सचिव और संबंधित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

देश में कोविशिल्ड और कोवैक्सीन के लिए राष्ट्रीय नियामक द्वारा आपातकालीन सुरक्षा प्राधिकरण या त्वरित स्वीकृति प्रदान की गई है। इस बैठक में प्रधानमंत्री को वैक्सीन रोल आउट करने के लिए राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश सरकारों के साथ मिलकर केंद्र की तैयार स्थिति के बारे में भी बताया गया। इसमें प्रधानमंत्री को लोगों की भागीदारी में टीकाकरण अभ्यास, चुनावों के अनुभव (बूथ रणनीति) और यूनिवर्सल टीकाकरण कार्यक्रम (यूआईपी) का उपयोग करना, मौजूदा स्वास्थ्य सेवाओं, वैज्ञानिक और नियामक मानदंडों और प्रौद्योगिकी द्वारा संचालित व्यवस्था की जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ेंः-प्राणि उद्यान में बिना फुटबाथ के नही मिलेगा प्रवेश, बर्ड फ्लू के मद्देनजर की गयी व्यवस्था

उल्लेखनीय है कि देश में अब तक तीन चरणों में ड्राई रन चलाया जा चुका है। सबसे पहले 28 और 29 दिसंबर को 4 राज्यों में दो दिन के लिए ड्राई रन किया गया था। इसके बाद 2 जनवरी को सभी राज्यों में ड्राई रन चलाया गया था और कल शुक्रवार को 33 राज्यों (हरियाणा, हिमाचल और अरुणाचल को छोड़कर) और केंद्रशासित प्रदेशों में वैक्सीन का ड्राई रन हुआ।

बता दें कि भारत सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशिल्ड और भारत बॉयोटेक की कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है। वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद से लोग टीकाकरण अभियान की शुरुआत का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। मोदी सरकार ने शनिवार को बता दिया अब और ज्यादा इंतजार करने की जरूरत नहीं है और 16 जनवरी से टीकाकरण शुरू हो रहा है।